बुधवार, अक्टूबर 23, 2019

कुर्दिश सेना के खिलाफ तुर्की के अभियान की ईरान ने आलोचना, सीरिया की क्षेत्रीय अखंडता का करे सम्मान

Must Read

हरियाणा-महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव : नतीजे तय करेंगे खट्टर और फडणवीस का कद

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर,(आईएएनएस)। हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के गुरुवार (24 अक्टूबर) को घोषित होने जा रहे नतीजे...

कांग्रेस नेता डी.के. शिवकुमार को जमानत

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और कर्नाटक के पूर्व मंत्री डी.के. शिवकुमार को दिल्ली हाईकोर्ट...

सोनिया ने हरियाणा व महाराष्ट्र के चुनावी नतीजों के बाद बुलाई बैठक

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। कांग्रेस अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव के नतीजे...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

ईरान के शीर्ष राजनयिक जावेद जरीफ ने अपने तुर्की के समकक्षी मेव्लुट कावुसोग्लू से फ़ोन पर बातचीत की थी और कहा कि तेहरान सीरिया में सैन्य कार्रवाई के खिलाफ है। जरीफ ने सोमवार को बयान दिया कि “सैन्य कार्रवाई का हम विरोध करते हैं और सीरिया की क्षेत्रीय अखंडता और राष्ट्रीय संप्रभुता का सम्मान करने का आग्रह करते हैं।”

ईरानी विदेश मंत्री ने आतंकवाद के खिलाफ जंग की जरुरत पर जोर दिया है और सीरिया में स्थिरता और सुरक्षा की स्थापना पर जोर दिया है। राष्ट्रपति रिचप तैयाब एर्दोगन ने सोमवार को कहा कि “अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने तुर्की को हरी झंडी दिखाई थी इसके बाद ही अंकारा ने कुर्दिश सेना के खिलाफ उत्तरी सीरिया में सैन्य अभियान को अंजाम दिया था।”

सीरिया से अमेरिकी सैनिको की वापसी के ट्रम्प के निर्णय की अमेरिका में भरसक आलोचना की जा रही है। वांशिगटन के दो सहयोगियों ने ही उन पर कुर्दस को पीठ दिखाने का आरोप लगाया है। इस समूह ने सीरिया में इस्लामिक स्टेट समूह के खिलाफ अमेरिकी समर्थित अभियान में भरी हताहत की थी।

फ़ोन कॉल पर जरीफ ने कावुसोग्लू ने कहा कि ” सीरिया और तुर्की के लिए अडाना समझौते सबसे बेहतरीन विकल्प है और इससे चिंताओं को बताया जा सकता है।” अंकारा और डमस्कस ने साल 1998 में तनाव को कम करने के लिए समझौते पर दस्तखत किये थे।

उन्होंने तुर्की के कुरदीश नेता अब्दल्लाह ओकालन को अपनी सरजमीं से निष्काषित नहीं करने पर सीरिया को सैन्य कार्रवाई करने की धमकी दी थी। कावुसोग्लू ने कहा कि “उत्तरीपूर्वी सीरिया में तुर्की का सैन्य अभियान अस्थायी हो सकता है।”

एर्दोगन ने सीरिया के सीमा इलाको को साफ़ करने की अंकारा की प्रतिबद्धता को प्रदर्शित किया था। तुर्की के मुताबिक, वाईपीजी कुर्दिस्तान वर्कर्स पार्टी के आतंकवादी शाखा है। इन इलाको से इस्लामिक स्टेट का सफाया करने के लिए अमेरिका कुर्द सेना के साथ काफी करीबी से कार्य कर रहा है।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

हरियाणा-महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव : नतीजे तय करेंगे खट्टर और फडणवीस का कद

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर,(आईएएनएस)। हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के गुरुवार (24 अक्टूबर) को घोषित होने जा रहे नतीजे...

कांग्रेस नेता डी.के. शिवकुमार को जमानत

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और कर्नाटक के पूर्व मंत्री डी.के. शिवकुमार को दिल्ली हाईकोर्ट ने बुधवार को जमानत दे...

सोनिया ने हरियाणा व महाराष्ट्र के चुनावी नतीजों के बाद बुलाई बैठक

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। कांग्रेस अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद 25 अक्टूबर...

बिहार में पुलिस और रेत माफिया के बीच झड़प, ग्रामीण की मौत

बांका (बिहार), 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। बिहार के बांका जिले के अमरपुर थाना क्षेत्र में रेत (बालू) माफिया और पुलिस के बीच हुई झड़प में...

फर्रुखाबाद में भाजपा विधायक के आवास से कुछ दूरी पर हुए विस्फोट से मचा हड़कंप

फर्रुखाबाद, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद में बुधवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक मेजर सुनीलदत्त द्विवेदी के आवास से कुछ...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -