बुधवार, अक्टूबर 23, 2019

किम जोंग-डोनाल्ड ट्रम्प के बैठक से पूर्व अमेरिकी राजदूत करेंगे उत्तर कोरिया से मुलाकात

Must Read

हरियाणा-महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव : नतीजे तय करेंगे खट्टर और फडणवीस का कद

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर,(आईएएनएस)। हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के गुरुवार (24 अक्टूबर) को घोषित होने जा रहे नतीजे...

कांग्रेस नेता डी.के. शिवकुमार को जमानत

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और कर्नाटक के पूर्व मंत्री डी.के. शिवकुमार को दिल्ली हाईकोर्ट...

सोनिया ने हरियाणा व महाराष्ट्र के चुनावी नतीजों के बाद बुलाई बैठक

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। कांग्रेस अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव के नतीजे...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

अमेरिका के राज्य विभाग ने कहा कि उत्तर कोरिया में नियुक्त अमेरिका के विशेष राजदूत ट्रम्प-किंम की मुलाकात से पूर्व उत्तर कोरिया के अधिकारियों से मुलाकात करेंगे। इसके बाद वह उत्तर कोरिया के मुलाकात को लेकर एजेंडा के बाबत बातचीत के लिए सीओल की यात्रा करेंगे। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प हनोई में किंम जोंग उन के साथ दूसरी मुलाकात करेंगे। इस मुलाकात के लिए वियतनाम का स्थान तय हुआ हैं।

सीएनएन के मुताबिक डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा था कि मेरे प्रतिनिधि उत्तर कोरिया के लिए रवाना हो चुके हैं। साथ ही किंम जोंग उन दूसरी मुलाकात के स्थान व तारीख पर रज़ामंद है। मैं उत्तर कोरिया के नेता के साथ आगे बातचीत की राह देख रहा हूँ, ताकि शांति को स्थापना की जा सके।

अमेरिकी राज्य विभाग ने कहा कि उत्तर कोरिया में अमेरिका के विशेष राजदूत स्टीफेन बेगुन और उनके उत्तर कोरिया के समकक्ष किम होक चोल वार्ता से पूर्व नए तरीके से बातचीत के लिए रज़ामंद हो गए हैं। इससे पूर्व इन दोनों के मध्य छह से आठ फरवरी तक इनके बीच कोरियाई प्रायद्वीप में परमाणु निरस्त्रीकरण पर बातचीत हुई थी। इस दौरान सिंगापुर में हुई प्रायिबद्धताओं और उत्तर कोरिया व अमेरिका के मध्य रिश्तों को बढ़ाने पर बातचीत हुई थी।

डोनाल्ड ट्रम्प और किम जोंग उन के मध्य ऐतिहासिक मुलाकात बीते वर्ष जून में सिंगापुर में हुई थी, जहां उत्तर ककोरा के शासक ने परमाणु निरस्त्रीकरण के लिए प्रतिबद्धता दिखाई थी। हाल ही में आलोचकों ने कहा कि किम जोंग उन परमाणु निरस्त्रीकरण के लिए पर्याप्त कदम नहीं उठा रहे हैं। कारणवश, डोनाल्ड ट्रम्प को दबाव में आकर दूसरे शिखर सम्मेलन के लिए राज़ी होना पड़ा था।

उत्तर कोरिया में अमेरिका के विशेष प्रतिनिधि स्टेफेन बिएगुन ने एक भाषण के दौरान कहा था कि अमेरिका की हमेशा नज़रे सपष्ट रही है और पियोंयांग के वेपन प्रोग्राम को इस समझौते भाग बताया था। “उन्होंने कहा कि निरस्त्रीकरण को अमलीजामा पहनाने से पूर्व हमें उत्तर कोरिया के डब्ल्यूएमडी और मिसाइल कार्यक्रम को व्यापक घोषणा के माध्यम से समझना होगा।”

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

हरियाणा-महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव : नतीजे तय करेंगे खट्टर और फडणवीस का कद

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर,(आईएएनएस)। हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के गुरुवार (24 अक्टूबर) को घोषित होने जा रहे नतीजे...

कांग्रेस नेता डी.के. शिवकुमार को जमानत

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और कर्नाटक के पूर्व मंत्री डी.के. शिवकुमार को दिल्ली हाईकोर्ट ने बुधवार को जमानत दे...

सोनिया ने हरियाणा व महाराष्ट्र के चुनावी नतीजों के बाद बुलाई बैठक

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। कांग्रेस अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद 25 अक्टूबर...

बिहार में पुलिस और रेत माफिया के बीच झड़प, ग्रामीण की मौत

बांका (बिहार), 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। बिहार के बांका जिले के अमरपुर थाना क्षेत्र में रेत (बालू) माफिया और पुलिस के बीच हुई झड़प में...

फर्रुखाबाद में भाजपा विधायक के आवास से कुछ दूरी पर हुए विस्फोट से मचा हड़कंप

फर्रुखाबाद, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद में बुधवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक मेजर सुनीलदत्त द्विवेदी के आवास से कुछ...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -