Sun. May 19th, 2024
    MANOHAR PARIKKAR

    करीब चार महीने बाद गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर परिक्कर कार्यालय में पहुँच कर काम संभाला तो भाजपा की सहयोगी शिवसेना ने गोवा के मंत्रियों पर तंज कसते हुए कहा कि राज्य के निष्क्रिय मंत्रियों को अपने मुख्यमंत्री से सीखना चाहिए।

    कैंसर की बीमारी से जूझ रहे 63 वर्षीय परिक्कर अगस्त के बाद पहली बार सचिवालय स्थित अपने कार्यालय में पहुंचे।शिव सेना की गोवा इकाई की प्रवक्ता राखी प्रभुदेसाई नाइक ने कहा, “सचिवालय में श्री पर्रिकर के आगमन को राज्य में शासन करने में विफल रहने वाले अक्षम मंत्रियों द्वारा प्रेरणा के रूप में लिया जाना चाहिए।”

    नाइक ने मांग की कि सरकार नए साल में खनन पर निर्भर लोगों की दुर्दशा का हल ढूंढे और मछली की गुणवत्ता पर संदेह को एक बार के लिए सुलझाए।

    उन्होंने कहा, “शिवसेना को भी उम्मीद है कि मछली में फॉर्मेलिन की मौजूदगी पर संदेह सभी के लिए एक बार साफ हो जाएगा और सरकार यह प्रमाणित करेगी कि गोवा के बाजारों में बेची जा रही मछली फॉर्मेलिन से मुक्त है।”

    नाक पर ड्रिप चढ़ाये परिक्कर के सचिवालय पहुंचें की तस्वीरें गोवा सीएमओ के ट्विटर अकाउंट से पोस्ट किये गए। जहाँ उनका अधिकारियों और कर्मचारियों से जोरदार स्वागत किया।

    दूसरी तस्वीर में मुख्यमंत्री मनोहर परिक्कर अपने सहयोगियों के साथ एक मीटिंग कर रहे हैं।

    इससे पहले बीते साल 17 दिसंबर को परिक्कर एक पुल के निर्माण कार्य का औचक निरिक्षण करने निकल पड़े थे जिसकी तस्वीरें भी खूब वायरल हुई थी। नाम में ड्रिप लगा रखी है और सुरक्षा हेलमेट पहने हुए सरकारी अधिकारियों और इंजीनियरों से बात करते हुए हुए दिखाई दे रहे हैं। वो पणजी के नजदीक मंडोवी नदी पर बन रह पुल का निरिक्षण करने पहुंचे थे।

    परिक्कर की तस्वीर सोशल मिडिया पर वायरल हो गई थी उसके बाद लोग दो भागों में बंट गए थे । कुछ जहाँ ये कह रहे कि परिक्कर को ऐसी अस्वस्थता की स्थिति में आराम करना चाहिए वहीँ कुछ लोग उनकी जीवटता की तारीफ़ भी कर रहे थे।

    By आदर्श कुमार

    आदर्श कुमार ने इंजीनियरिंग की पढाई की है। राजनीति में रूचि होने के कारण उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ कर पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखने का फैसला किया। उन्होंने कई वेबसाइट पर स्वतंत्र लेखक के रूप में काम किया है। द इन्डियन वायर पर वो राजनीति से जुड़े मुद्दों पर लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *