दा इंडियन वायर » राजनीति » जानें क्यों कर रहे हैं कांग्रेस कार्यकर्ता अपने ही नेता का विरोध?
राजनीति समाचार

जानें क्यों कर रहे हैं कांग्रेस कार्यकर्ता अपने ही नेता का विरोध?

आज कांग्रेस के गुस्साए कार्यकर्ताओं ने अपनी ही पार्टी के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद का पुतला फूंका। साथ ही उनके विरोध में नारे भी लगाए हैं। जम्मू कश्मीर के कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पार्टी के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद को पार्टी से निष्कासित करने की भी मांग रखी है। गुलाम नबी आजाद का कसूर सिर्फ इतना था कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ करी थी। कांग्रेस के कार्यकर्ताओं का आरोप है कि गुलाम नबी आजाद ने भाजपा के साथ दोस्ती निभाई है। कार्यकर्ताओं का कहना है कि कांग्रेस पार्टी ने गुलाम नबी आजाद को खूब इज्जत दी, लेकिन वे विरोधी पार्टी के नेता की तारीफ करके पार्टी के साथ गद्दारी कर रहे हैं।

इसके चलते कार्यकर्ताओं ने उनकी सदस्यता रद्द करने की मांग करी है और उनके पुतले भी फूंके हैं। उन्होंने कहा कि जब गुलाम नबी आजाद को कैंपेनिंग के लिए आना चाहिए था, तब वे विरोधी पार्टी के नेताओं की तारीफों के पुल बांध रहे थे। आज वे भाजपा के साथ दोस्ती निभा कर प्रधानमंत्री की तारीफ करते नजर आ रहे हैं। इस संबंध में जम्मू के कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पार्टी की वरिष्ठ नेता सोनिया गांधी को खत भी लिखा है।

गुलाम नबी आजाद अभी कुछ समय पहले ही राज्यसभा से सेवानिवृत्त हुए हैं। उनकी सेवानिवृत्ति के वक्त प्रधानमंत्री ने उनकी खूब तारीफ की थी। साथ ही गुलाम नबी आजाद ने भी प्रधानमंत्री को बेहतरीन नेता बताया था और कहा था कि आज के नेताओं को उनसे जमीन से जुड़े रहने की सीख लेनी चाहिए। गुलाम नबी आजाद ने कहा था कि उनके नरेंद्र मोदी से वैचारिक मतभेद भले ही रहे हों लेकिन नरेंद्र मोदी ने कभी अपने अतीत को नहीं छुपाया। वे हमेशा खुलकर अपने अतीत पर भी गर्व करते हैं।

गुलाम नबी आजाद रिटायरमेंट के बाद कुछ समय के लिए जम्मू कश्मीर के दौरे पर गए थे। जहां उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ की। इस पर जम्मू कश्मीर कांग्रेस के कार्यकर्ता भड़क गए और गुलाम नबी आजाद के खिलाफ जमकर नारेबाजी करने लगे। जम्मू कश्मीर कांग्रेस के नेता आज सड़कों पर आए और उन्होंने गुलाम नबी आजाद को पार्टी से दगाबाजी करने वाला नेता बताया। कार्यकर्ताओं का कहना था कि जब जम्मू-कश्मीर में डीडीसी चुनाव के वक्त प्रचार की आवश्यकता थी तब से वहां मौजूद नहीं थे, लेकिन अब वे यहां कर विपक्ष के नेता की तारीफ कर रहे हैं।

सिर्फ इतना ही नहीं, जम्मू कश्मीर कांग्रेस के अध्यक्ष गुलाम अहमद भी गुलाम नबी आजाद से नाराज हो कर दिल्ली पहुंचे हैं। यहां वे कांग्रेस के महासचिव आदि नेताओं से मुलाकात करेंगे। हाल ही में कांग्रेस की G23 बैठक भी हुई थी, जिसमें गुलाम नबी आजाद ने भगवा पगड़ी पहनकर शिरकत की थी। यहां पर उन्होंने भाजपा और नरेंद्र मोदी की तारीफ की थी। उनकी वजह से जम्मू कश्मीर कांग्रेस के कार्यकर्ता नाराज नजर आ रहे हैं। इसके बाद उन्होंने गुलाम नबी आजाद को पार्टी से निष्कासित करने की पार्टी हाईकमान से सिफारिश की है। साथ ही उनके विरोध में जमकर नारेबाजी भी की है। उन पर आरोप लगाए जा रहे हैं कि वे पार्टी से गद्दारी कर रहे हैं और विपक्षी पार्टी के समर्थन में जा रहे हैं।

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!