Thu. Apr 18th, 2024
    Narendra-Modi-

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि अयोध्या केस की जल्दी सुनवाई टालने के लिए कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट के जजों को महाभियोग की धमकी देती है।

    बिना किसी का नाम लिए प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस के एक राज्यसभा सांसद, जो एक वकील भी हैं, उन्होने सुप्रीम कोर्ट के जजों को डराने की कोशिश की और ये सुनिश्चित किया कि केस का फैसला 2019 लोकसभा चुनाव से पहले न आए।

    गौरतलब है कि एक अप्रत्याशित घटनाक्रम मे कॉंग्रेस के नेतृत्व मे 7 विपक्षी पार्टियों ने इस साल अप्रैल मे तत्कालीन मुख्य नयायाधीश दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग लाने का नोटिस दिया था लेकिन राज्यसभा के अध्यक्ष वेंकैया नायडू ने महाभियोग प्रस्ताव में लगे आरोपों को संदेहास्पद करार दे कर प्रस्ताव को अस्वीकृत कर दिया था।

    राजस्थान के अलवर मे एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुये कॉंग्रेस पर आरोप लगाया कि कॉंग्रेस को न्यायपालिका और लोकतंत्र मे कोई विश्वास नहीं है। मोदी ने कहा की ‘उन्हे (कॉंग्रेस) संसद मे बहस से डर लगता है लेकिन उन्होने ये जो नया खेल शुरू किया है वो देश के उज्ज्वल भविष्य के लिए खतरनाक है।’

    प्रधानमंत्री ने कहा कि ‘यदि सुप्रीम कोर्ट के जज उनके (कॉंग्रेस) हिसाब से काम नहीं करते और अयोध्या जैसे संवेदनशील मुद्दे पर जल्द सुनवाई की कोशिश करते हैं तो उनके वकील जो राज्यसभा के सदस्य भी हैं जजों को महाभियोग के जरिये डराने की कोशिश करते हैं। वो राज्यसभा मे अपनी संख्या के बल पर न्यायपालिका को डराने की कोशिश करते हैं। लेकिन हम लोकतंत्र के मंदिर मे उनके काले कारनामे को सफल नहीं होने देंगे।’

    मोदी ने कहा कि विपक्ष विकास के मुद्दे पर बहस करने से डरता है इसलिए मोदी कि जाति के बारे मे बात करता है

    उन्होने रैली मे जमा भीड़ से सवाल किया ‘क्या आप मोदी की जाति देख कर वोट करेंगे? क्या मोदी का जन्मस्थान राजस्थान का भविष्य तय करेगा?’

    मोदी का इशारा वरिष्ठ कॉंग्रेस नेता सीपी जोशी के उस बयान की ओर था जिसमे उन्होने मोदी की जाति और धर्म पर सवाल उठाया था।

    उन्होने कॉंग्रेस पर दलितों के साथ अन्याय करने का आरोप लगाया। उन्होने कहा कि पार्टी (कॉंग्रेस) बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर को भारत रत्न देना भूल गई। बाबा साहेब को उनकी मृत्यु के 34 साल बाद 1990 मे भारत रत्न से सम्मानित किया गया था।

    साल 2013 मे भाजपा ने अलवर जिले के 11 मे से 9 विधानसभा सीटों पर पर कब्जा किया था।

    By आदर्श कुमार

    आदर्श कुमार ने इंजीनियरिंग की पढाई की है। राजनीति में रूचि होने के कारण उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ कर पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखने का फैसला किया। उन्होंने कई वेबसाइट पर स्वतंत्र लेखक के रूप में काम किया है। द इन्डियन वायर पर वो राजनीति से जुड़े मुद्दों पर लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *