बुधवार, अक्टूबर 23, 2019

कश्मीर संकट के बहाने पाकिस्तान आतंकवाद का कर रहा समर्थन: पीओके कार्यकर्ता

Must Read

बिहार में बादल छाए, बारिश के आसार

पटना, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। बिहार की राजधानी पटना तथा इसके आसपास के क्षेत्रों में बुधवार को बादल छाए हुए...

चैम्पियंस लीग : करीबी मुकाबले में रियल ने जीत दर्ज की

इस्तांबुल (तुर्की), 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। स्पेनिश दिग्गज रियल मेड्रिड ने मंगलवार देर रात यहां खेले गए यूरोपीय चैम्पियंस लीग...

मोहन भागवत हरिद्वार में पांच दिन संगठन मंत्रियों की चलाएंगे पाठशाला

देहरादून, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ(आरएसएस) के सरसंघ चालक मोहन भागवत 30 अक्टूबर से हरिद्वार के प्रेमनगर...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के एक राजनीतिक कार्यकर्ता ने पाकिस्तान की पोल खोली है और बताया कि जम्मू कश्मीर में दशको से अशांति फ़ैलाने के लिए पाकिस्तान आतंकवाद का हथियार की तरह इस्तेमाल कर रहा है। जम्मू कश्मीर लिब्रेशन फ्रंट के नेता सरदार साघीर ने दावा किया कि पाकिस्तान घाटी में अशांति फैलाने के लिए आतंकवाद का इस्तेमाल कर रहा है।

साघीर ने कहा कि “साल 1947 में इस इलाके में पश्तून आदिवासी सेना भेजकर कश्मीर की आजादी के स्वदेशी आंदोलन को तोड़ दिया गया। साल 1980 के दशक के अंत में जब एक बार फिर जम्मू-कश्मीर के लोगों ने एक और अभियान शुरू किया तब पाकिस्तान ने 1989 में आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन और जमात उद दावा का गठन करके उसे हाईजैक कर लिया।”

उन्होंने आगे कहा कि “इसके बाद में हाफिज सईद के लश्कर-ए-तैयबा और जमात-उ-दावा अस्तित्व में आये जिन्हें  पाकिस्तानी खुफिया एजेंसियों द्वारा भेजा गया था। इन्होंने हमारे शांतिपूर्ण चल रहे संघर्ष को नुकसान पहुंचाया। अब इसे विश्व समुदाय आतंक के कार्य के रूप में देख रहा है।”

साघीर को पीओके के मुखर कार्यकर्ता के तौर पर देखा जाता है। इस इलाके में लोग उत्पीड़न और आतंकवाद से परेशान हैं। साघीर ने बताया कि “9/11 के हमले के बाद आतंकवाद के खिलाफ कुछ कदम उठाए गए लेकिन हमारे शांतिपूर्ण संघर्ष को पीछे छोड़ दिया गया। हालांकि, हमने विरोध करना जारी रखा। जब पाकिस्तान पर अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने दबाव बनाया तो लश्कर-ए-तैयबा को छोड़ उसने मौलाना मसूद अजहर के जैश-ए-मोहम्मद का प्रचार करना शुरू कर दिया था।”

कार्यकर्ता ने कहा कि “अब जैश के आतंकियों को बड़े पैमाने पर भारत में घुसपैठ के लिए प्रशिक्षित किया जा रहा है। दुनिया का ध्यान इस वक्त कश्मीर घाटी पर है, लेकिन पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी यहां से जानबूझकर ध्यान हटा रही हैं। इन आतंकियों को घुसपैठ के लिए तैयार किया जाता है और फिर मारा जाता है और भविष्य में भी मारा जाएगा।”
- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

बिहार में बादल छाए, बारिश के आसार

पटना, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। बिहार की राजधानी पटना तथा इसके आसपास के क्षेत्रों में बुधवार को बादल छाए हुए...

चैम्पियंस लीग : करीबी मुकाबले में रियल ने जीत दर्ज की

इस्तांबुल (तुर्की), 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। स्पेनिश दिग्गज रियल मेड्रिड ने मंगलवार देर रात यहां खेले गए यूरोपीय चैम्पियंस लीग के ग्रुप-ए के एक करीबी...

मोहन भागवत हरिद्वार में पांच दिन संगठन मंत्रियों की चलाएंगे पाठशाला

देहरादून, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ(आरएसएस) के सरसंघ चालक मोहन भागवत 30 अक्टूबर से हरिद्वार के प्रेमनगर आश्रम में पांच दिवसीय संगठन...

पूर्वी उप्र में बूंदाबांदी के आसार, पश्चिमी हिस्से में मौसम रहेगा शुष्क

लखनऊ, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश की राजधानी के आस-पास के इलाकों में सुबह से बादल की आवाजाही बनी हुई है। इस कारण पूर्वी...

दिल्ली : कनाट प्लेस में मुठभेड़, केंद्रीय मंत्री के रिश्तेदार को लूटने वाले बदमाश गोली मारकर दबोचे

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। दिल्ली का दिल कहे जाने वाले नई दिल्ली जिले में स्थित कनाट प्लेस में बुधवार तड़के पुलिस और बदमाशों...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -