बुधवार, जनवरी 22, 2020

कश्मीर विवाद को कूटनीतिक तरीके से हल किया जाना चाहिए: ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी

Must Read

मायावती ने स्वीकर की गृहमंत्री शाह की चुनौती, कहा बसपा कहीं भी सीएए पर बहस को तैयार

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) व एनआरसी को लेकर गृहमंत्री अमित...

टोक्यो ओलंपिक : पाल सिंह संधू को महिला वेटलिफ्टर मीराबाई चानू से पदक की उम्मीद

भारोत्तोलन में भारत के पहले द्रोणाचार्य अवार्डी विजेता पाल सिंह संधू को उम्मीद है कि अनुभवी महिला वेटलिफ्टर साइखोम...

इंडिया रेटिंग्स एंड रिसर्च का अनुमान, वित्त वर्ष 2021 में जीडीपी वृद्धि दर 5.5 फीसदी

इंडिया रेटिंग्स एंड रिसर्च ने बुधवार को कहा कि उसे उम्मीद है कि वित्त वर्ष 2021 में सकल घरेलू...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने कहा कि “कश्मीर के विवाद का कोई सैन्य समाधान नहीं है और इसे भारत और पाकिस्तान को कूटनीतिक तरीके से हल करना चाहिए।” पाकिस्तानी प्रधानमन्त्री इमरान खान के साथ फ़ोन पर बातचीत में हसन रूहानी ने कहा कि “दोनों पड़ोसी मुल्कों को अधिकतम संयमता बरतनी चाहिए और कश्मीर की मासूम जनता की हत्याओं को रोकना चाहिए।”

उन्होंने कहा कि “इस मामले पर विवाद उपमहाद्वीप में सभी देशों के लिए भय का कारण बनता जा रहा है।” वैश्विक नेताओं को अपने हक़ में करने के लिए इमरान खान ने हसन रूहानी को फ़ोन किया था। खान सभी वैश्विक नेताओं को भारत सरकार के आर्टिकल 370 को हटाने के निर्णय के खिलाफ करना चाहते हैं।

इससे पूर्व इमरान खान ने तुर्की के राष्ट्रपति रिचप तैयाब एर्दोगन और मलेशिया के प्रधानमन्त्री महातिर मोहम्मद को भी फ़ोन किया था। भारत के निर्णय के खिलाफ पाकिस्तान ने बौखलाहट में कई कदम उठाये हैं। अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने दोनों देशों के अधिकतम संयमता बरतने का आग्रह किया था साथ ही लाइन ऑफ़ कंट्रोल में शान्ति और स्थिरता को सुनिश्चित केरने का अनुरोध किया है।

पाकिस्तान ने भारत के साथ सभी राजनयिक संबंधो को तोड़ दिया है। साथ ही द्विपक्षीय व्यापार को भी निलंबित कर दिया है। इसके जवाब में नई दिल्ली ने इस्लामाबाद से उसके फैसले की समीक्षा करने की गुजारिश की है।

पाकिस्‍तान ने अपने यहां भारतीय फिल्मों व ड्रामों के पाक में प्रदर्शन पर रोक लगा दी है। इसके साथ ही द्विपक्षीय कारोबार पर भी बैन लगा दिया है। पाकिस्‍तान ने समझौता एक्सप्रेस के आवागमन को भी रोकने का फैसला किया है। बीते दिन पाकिस्‍तानी विदेश मंत्री ने कहा कि भारत यदि अनुच्छेद-370 पर फैसला वापस लेता है तो हम दोबारा राजनयिक रिश्ता भी स्थापित कर लेंगे।

 

 

 

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

मायावती ने स्वीकर की गृहमंत्री शाह की चुनौती, कहा बसपा कहीं भी सीएए पर बहस को तैयार

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) व एनआरसी को लेकर गृहमंत्री अमित...

टोक्यो ओलंपिक : पाल सिंह संधू को महिला वेटलिफ्टर मीराबाई चानू से पदक की उम्मीद

भारोत्तोलन में भारत के पहले द्रोणाचार्य अवार्डी विजेता पाल सिंह संधू को उम्मीद है कि अनुभवी महिला वेटलिफ्टर साइखोम मीराबाई चानू आगामी टोक्यो ओलंपिक...

इंडिया रेटिंग्स एंड रिसर्च का अनुमान, वित्त वर्ष 2021 में जीडीपी वृद्धि दर 5.5 फीसदी

इंडिया रेटिंग्स एंड रिसर्च ने बुधवार को कहा कि उसे उम्मीद है कि वित्त वर्ष 2021 में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर...

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 : आचार संहिता उल्लंघन की 228 एफआईआर दर्ज, आप के खिलाफ फिर 13 मामले

दिल्ली में 8 फरवरी को विधानसभा चुनाव शांतिपूर्ण ढंग से कराने में जुटे राज्य चुनाव मुख्यालय ने एड़ी-चोटी का जोर लगा दिया है। चुनाव...

जम्मू-कश्मीर : संभावित आतंकी हमलों के मद्देनजर गणतंत्र दिवस से पहले हाईअलर्ट

जम्मू-कश्मीर में गणतंत्र दिवस से पहले संभावित आतंकी हमलों की खुफिया सूचना के बाद से हाईअलर्ट घोषित कर दिया गया है। सूत्रों ने कहा कि...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -