मंगलवार, अप्रैल 7, 2020

कर्नाटक उपचुनाव: बेल्लारी लोकसभा सीट झटक कांग्रेस ने दिया भाजपा को जबरदस्त झटका

Must Read

दिल्ली में 68 वर्षीय महिला की कोरोनोवायरस से मृत्यु, भारत में अबतक दूसरी मृत्यु

देश में वैश्विक महामारी से जुड़ी दूसरी मौत में शुक्रवार को दिल्ली में 68 वर्षीय एक महिला की मौत...

‘बागी 3’ बॉक्स ऑफिस कलेक्शन: टाइगर श्रॉफ, श्रद्धा कपूर नें होली पर जमकर की कमाई

टाइगर श्रॉफ की बागी 3 (Baaghi 3) ने अपने शुरुआती सप्ताहांत में बॉक्स ऑफिस पर 53.83 करोड़ रुपये कमाए।...
आदर्श कुमार
आदर्श कुमार ने इंजीनियरिंग की पढाई की है। राजनीति में रूचि होने के कारण उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ कर पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखने का फैसला किया। उन्होंने कई वेबसाइट पर स्वतंत्र लेखक के रूप में काम किया है। द इन्डियन वायर पर वो राजनीति से जुड़े मुद्दों पर लिखते हैं।

कर्नाटक में तीन लोकसभा और दो विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में कांग्रेस ने भाजपा को जबरदस्त झटका दिया है। 5 सीटों में से भाजपा को सिर्फ शिमोगा लोकसभा सीट पर कामयाबी मिल पाई।

भाजपा के लिए सबसे चौकाने वाला रहा बेल्लारी का परिणाम। बेल्लारी को भाजपा का गढ़ माना जाता है लेकिन जिस बड़े अंतर से कांग्रेस ने जीत दर्ज की वो भाजपा के लिए किसी सदमे से कम नहीं।

बेल्लारी से भाजपा ने अपने नेता श्रीरामालू की बहन वी शांता को उम्मीदवार बनाया था। बेल्लारी 2004 से भाजपा के लिए वोट करते आ रहा है। ये वही क्षेत्र हैं जहाँ रेड्डी बंधुओं का वर्चस्व है। लेकिन कांग्रेस उम्मीदवार वीएस उगरप्पा ने 2,43,261 वोटों से भाजपा उम्मीदवार वी शांता को धुल चटा दिया।

बेल्लारी लोकसभा सीट श्रीरामालू के पास थी। लेकिन मई में विधानसभा चुनाव लड़ने के कारण ये सेट खाली हुई और भाजपा ने इस सीट पर श्रीरामालू की बहन वी शांता को उतारा। शांता को सिर्फ 3,85,204 वोट मिले जबकि कांग्रेस उम्मीदवार उगरप्पा ने 6,28,365 वोट हासिल किये।

सत्तारूढ़ कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन ने उत्तरी कर्नाटक के इस निर्वाचन क्षेत्र में कड़ी मेहनत की थी। वीएस उग्रप्पा को बाहरी व्यक्ति माना जाता है लेकिन कांग्रेस के नेता सिद्धाराय्याह के साथ-साथ डीके शिवकुमार जिस मजबूती के साथ उगरप्पा के साथ खड़े रहे वो उन्हें चुनाव जिताने में सहायक सिद्ध हुई।

बेल्लारी को जिताने की जिम्मेदारी कांग्रेस ने डी के शिवकुमार को सौंपी थी। राज्य में कांग्रेस को बहुमत न मिलने के बाद भी भाजपा को रोकने के लिए कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन का श्रेय शिवकुमार को ही जाता है।

बेल्लारी 1999 में सोनिया गाँधी और सुषमा स्वराज के बीच हुए चुनावी मुकाबले के बाद पुरे देश में चर्चा में आया। आजादी के बाद से ही बेल्लारी कांग्रेस का गढ़ रहा था लेकिन 2004 में उस पर भाजपा ने कब्ज़ा कर लिया और उसके बाद उसने पीछे मुड़ कर नहीं देखा। लेकिन आज कांग्रेस ने शानदार जीत दर्ज करते हुए भाजपा से फिर से ये सीट छीन ली।

इस दौरान बेल्लारी रेड्डी बंधुओं और उनके करीबी नेता श्रीरामालू के प्रभाव क्षेत्र के रूप में पहचाना गया।

ये पहली बार नहीं है जब उपचुनावों में भाजपा को अपने गढ़ में हार का सामना करना पड़ा हो। इससे पहले मार्च में हुए उपचुनावों में भाजपा ने अपना गोरखपुर जैसा गढ़ खो दिया। गोरखपुर उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का गढ़ रहा है लेकिन वहां से निकल कर मुख्यमंत्री बनते ही भाजपा वहां से हार गई।

कर्नाटक उपचुनाव के नतीजे जहाँ कांग्रेस के हौसलों को बुलंद करने वाले हैं वहीँ उपचुनावों में एक के बाद एक मिलती हार से भाजपा पर सहयोगियों का दवाब बढ़ना तय है।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

दिल्ली में 68 वर्षीय महिला की कोरोनोवायरस से मृत्यु, भारत में अबतक दूसरी मृत्यु

देश में वैश्विक महामारी से जुड़ी दूसरी मौत में शुक्रवार को दिल्ली में 68 वर्षीय एक महिला की मौत...

एक विलेन 2: दिशा पटानी के बाद, तारा सुतारिया फिल्म से जुड़ी, जॉन अब्राहम और आदित्य रॉय कपूर भी होंगे फिल्म का हिस्सा

यह पहले बताया गया था कि जॉन अब्राहम 2014 की फिल्म, एक विलेन की अगली कड़ी बनाने के लिए बातचीत कर रहे थे। जनवरी...

‘बागी 3’ बॉक्स ऑफिस कलेक्शन: टाइगर श्रॉफ, श्रद्धा कपूर नें होली पर जमकर की कमाई

टाइगर श्रॉफ की बागी 3 (Baaghi 3) ने अपने शुरुआती सप्ताहांत में बॉक्स ऑफिस पर 53.83 करोड़ रुपये कमाए। 2 दिन में 16.03 करोड़...

महाराष्ट्र सरकार को कोई खतरा नहीं – कांग्रेस

एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने बुधवार शाम को अपने सभी विधायकों की बैठक बुलाई है। राकांपा नेताओं ने कहा कि 26 मार्च को होने...

पीएम मोदी, राहुल गांधी ने पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को उनके जन्मदिन पर शुभकामनाएं दीं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को उनके 78 वें जन्मदिन पर शुभकामनाएं दीं। पीएम मोदी ने ट्विटर पर लिखा,...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -