Sat. Apr 20th, 2024

    करतारपुर गलियारे के मसौदे को अंतिम रूप देने के लिए आगामी माह पाकिस्तान का दल भारत आएगा। पाकिस्तान ने बुधवार को ऐलान किया कि एक विशेष प्रतिनिधि दल 13 मार्च को भारत आएगा। पाक से आये विशेष प्रतिनिधि दल सिख श्रद्धालुओं को दर्शन की मंजूरी देने के लिए बनाये गये अंतिम मसौदे पर भारत को मंजूरी देने के लिए भारत आएगा। इस गलियारे से भारतीय सिखों को नानक साहिब गुरुद्वारे में जाने के लिए वीजा मुक्त एंट्री मिलेगी।

    पाकिस्तान के विदेश विभाग के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने कहा कि पाकिस्तान को ओर से भारतीय दाल को प्रस्ताव पर बातचीत के लिए 28 मार्च की तारीख दी गयी है। उन्होंने कहा कि हमे इस निर्णय पर भारत से सकारात्मक जवाब को उम्मीद है।  बीते माह दोनो देशों की तरफ से प्रस्ताव को अंतिम रूप देने के लिए पिछले माह वार्ता को आगे बढ़ाया गया था। पाकिस्तान ने कहा कि वह गुरुनानक देव की 550 वीं वर्षगांठ पर गलियारे को श्रद्धालुओ के लिए खोलने पर प्रतिबद्ध है।

    भारत ने 24 नवंबर को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री यमरें खान ने लाहौर से 124 किलोमीटर दूर नरोवाल में इस गलियारे की नींव रखी थी। करतारपुर पाकिस्तान के पंजाब प्रान्त में आता है और नरोवाल जिले में पड़ता है। यहां सिख धर्म के संस्थापक गुरुनानक देव ने अपने जीवन के अंतिम 18 वर्ष व्यतीत किये थे। इसी पवित्र स्थल पर उन्होंने अपने जीवन की आखिरी सांस ली थी। इस पवित्र स्थल की स्थापना साल 1522के गुरुनानक ने की थी।

    भारत ने इस प्रस्ताव के लिए दो तिथियाँ बताई है जिसमे पाकिस्तानी प्रतिनिधि यात्रा कर इस मसौदे को अंतिम रूप दे सकते हैं। भारत सरकार ने 26 फ़रवरी और 7 मार्च 2019 की तारीख का निर्णय लिया है, जब पाकिस्तान के प्रतिनिधि समूह विचार-विमर्श कर इस मसौदे को फाइनल टच दे सकते हैं। विदेश मंत्रालय ने कहा कि हम जल्द ही इस करतारपुर गलियारे से सिख श्रद्धालुओं का प्रवेश चाहते हैं।

    विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारत सरकार ने इस निर्णय को 22 नवम्बर 2018 को लिया था, क्योंकि यह प्रस्ताव लम्बे  समय से अटका हुआ था। भारत सरकार ने आज पाकिस्तान के साथ अंतर्राष्ट्रीय सीमा के साथ ही करतारपुर गलियारे का आंकड़े साझा किये हैं।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *