Sun. Nov 27th, 2022

    मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के एक विवादित बयान से सियासत में घमासान मच गया है। कमलनाथ ने शुक्रवार को कहा कि भारत महान नहीं, भारत बदनाम है। सब देशों ने रोक लगाई है कि भारत के लोग नहीं आ सकते हैं। कमलनाथ यहीं नहीं रुके उन्होंने आगे यह भी कहा कि मुझे न्‍यूयॉर्क से लोगों ने फोन कर के बताया कि अपना देश इस कदर बदनाम हो चुका है कि जो भारतीय टैक्सी चलाते हैं उनकी टैक्सी में बैठने को कोई तैयार नहीं हो रहा है। कमलनाथ ने  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए कहा कि मोदी जी पहले कहते थे कि हमने कोविड की लड़ाई जीत ली है आज कहते हैं कि ग्लोबल टेंडर निकालो।

    कमलनाथ का यह बयान सामने आने के बाद भाजपा ने कांग्रेस पर करारा पलटवार शुरू कर दिया है। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सोनिया गांधी को इस मुद्दे पर जवाब देना चाहिए। क्या आप कमलनाथ के बयान से सहमत  है? सत्ता जाने के बाद लगता है कमलनाथ ने  अपना मानसिक संतुलन खो दिया है। कमलनाथ ने इसी धरती पर जन्म लिया और कह रहे हैं कि भारत बदनाम है।पंडित जवाहरलाल नेहरू और इंदिरा गांधी क्या वे ऐसी कांग्रेस चाहते थे।

    मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आगे कहा कि सोनिया गांधी को अपना मौन तोड़ना पड़ेगा। आप साफ करें कि कमलनाथ गलत है। अगर गलत है तो उन्हें पार्टी से बाहर करो या फिर आप कह दीजिए कि आप कमलनाथ के बयान से सहमत है।

    वहीं मध्य प्रदेश के मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि जो लोग एक परिवार की चाटुकारिता करते हुए राजनीति करना चाहते हैं, वे इस तरह के बयान देंगे। कमलनाथ जी भारत महान है। आपने और आपकी पार्टी ने भारत की स्थिति को कमजोर करने की कोशिश ज़रूर की। आप पाकिस्तान और चीन का एजेंडा लेकर राजनीति करना चाहते हैं। 

    वहीं छत्तीसगढ़ के भाजपा नेता बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि राहुल गांधी हो या कमलनाथ हो वे भारत में पैदा हुए हैं और इसी देश को बदनाम कर रहे हैं। उन्होंने सवाल उठाया कि जिस भारत देश को वे बदनाम कर रहे हैं क्या वे इसे छोड़कर रहने के लिए दूसरे देश में जाएंगे?

    By दीक्षा शर्मा

    गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय, दिल्ली से LLB छात्र

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *