Thu. Jul 25th, 2024
    'कबीर सिंह' निर्देशक संदीप वंगा ने दिया आलोचना का जवाब: यदि आप अपनी महिला को छू या थप्पड़ नहीं मर सकते, तो वे प्यार नहीं है

    शाहिद कपूर की फिल्म ‘कबीर सिंह‘ ने भले ही लोगो के दिलों के साथ साथ बॉक्स ऑफिस कलेक्शन क्यों न जीता हो लेकिन फिल्म को कुछ लोगो द्वारा आलोचना का शिकार भी बनाया गया था। फिल्म को महिलाओं के प्रति द्वेष रखने वाले और उनके साथ गलत तरीके से व्यवहार करने वाली कहा गया था।

    उदाहरण के तौर पर, फिल्म का वो दृश्य जिसमे शाहिद कियारा आडवाणी को थप्पड़ मार देते हैं क्योंकि अभिनेत्री के पिता ने दोनों की शादी से इंकार कर दिया था, उसने दर्शको को बहुत परेशान कर दिया है। इसके साथ ही फिल्म को हिंसक भी कहा गया है। और अब जब फिल्म ने बेफिक्री से बॉक्स ऑफिस पर 200 करोड़ रूपये का आकड़ा पार कर लिया है तो इसके निर्देशक संदीप रेड्डी वंगा ने फिल्म को मिल रही आलोचना पर बात की।
    उनके मुताबिक, “जब मैंने यह फिल्म शुरू की, तो मुझे पता था कि यह बॉक्स ऑफिस पर एक बड़ी सफलता होगी, लेकिन मैंने कभी नहीं सोचा था कि क्रोध दोहराया जाएगा, और इस बार चार गुना बढ़ जाएगा।” जब महिलाओं के साथ हिंसक व्यवहार के बारे में पूछा गया, वंगा ने कहा, “जब आप प्यार में गहराई से होते हैं और एक महिला (और इसके विपरीत) से गहराई से जुड़े होते हैं, अगर आपके पास एक दूसरे को थप्पड़ मारने की स्वतंत्रता नहीं है, तो मुझे वहां कुछ भी दिखाई नहीं देता है।”

    इतना ही नहीं, वंगा ने आलोचकों के बारे में ये तक कह दिया कि वे लोग कभी प्यार में पड़े ही नहीं है कि उसकी गतिशीलता समझ सकें। उन्होंने कहा-“शायद उन्होंने कभी सही तरीके से प्यार का अनुभव ही नहीं किया। ये उनके लिए नया है।”

    https://www.instagram.com/p/BykkIVUnGop/?utm_source=ig_web_copy_link

    तेलगु फिल्म ‘अर्जुन रेड्डी’ की बात करते हुए, वंगा ने कहा-“आलोचकों ने फिल्म के कई पहलुओं की निंदा की। लेकिन बॉलीवुड में, वे केवल नारीवादी पक्ष की तरफ थे, उन्होंने और किसी मुद्दे पर बात नहीं की। शायद वे मुझसे नफरत करते हैं।”

    उस दृश्य की बात करते हुए जहाँ कबीर शारीरिक रूप से अपनी गर्लफ्रेंड प्रीती पर हमला करता है, वंगा ने समझाया-“प्रीती ने बेवजह कबीर को थप्पड़ मारा, कम से कम कबीर के पास उसे थप्पड़ मारने का कारण था। यदि आप थप्पड़ नहीं मार सकते, यदि आप अपनी स्त्री को जहां चाहें छू नहीं सकते, यदि आप किस नहीं कर सकते, तो मुझे वहां भावना नहीं दिखाई देती।”

     

    By साक्षी बंसल

    पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *