Sun. Oct 2nd, 2022

    कोरोना वैक्सीन पहली डोज़ कनाडा तक पहुंचाई जा चुकी है। भारत इकलौता ऐसा देश है जो अपने ही देश में वैक्सीन का निर्माण कर रहा है और अपने पड़ोसियों और अपने मित्र राष्ट्रों तक पहुंचाने का प्रयास भी कर रहा है। भारत में कोरोना वैक्सीनेशन के दूसरे चरण की शुरुआत हो चुकी है। वहीं कई देशों को भारत अपने देश की बनाई वैक्सीन निर्यात कर चुका है। भारत की बनी कोविड वैक्सीन की 5,00,00 डोज़ कनाडा पहुंचाई जा चुकी हैं।

    कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने कुछ समय पहले भारत में बनी वैक्सीन कनाडा पहुंचाने की मांग की थी। इस मांग को प्रधानमंत्री ने मान लिया था। इसके बाद 5,00,000 डोज की पहली खेप कनाडा पहुंचाई जा चुकी है। कनाडा ने भारत को कोरोना वैक्सीन देने के लिए धन्यवाद कहा है। कनाडा के कुछ महत्वपूर्ण पदाधिकारियों और राजनीतिक शख्सियतों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है। साथ ही कनाडा भारत के साथ भविष्य में इस तरह के और सहयोगों की भी अपेक्षा कर रहा है।

    कनाडा में वैक्सीनेशन की जिम्मेदारी भारतीय मूल की अनीता आनंद संभाल रही हैं। भारत अपने साथी देशो को वैक्सीन देकर गौरवान्वित महसूस कर रहा है। भारत विश्व स्वास्थ्य संगठन की वैक्सीनेशन मुहिम कोवैक्स का भी हिस्सा है। इसके अनुसार भारत को निम्न और सामान्य आय वर्ग वाले देशों को वैक्सीन देनी है और भारत अपने सामर्थ्य के अनुसार अपने पड़ोसी देशों व मित्र देशों को भी वैक्सीनेशन में मदद कर रहा है। अभी तक भारत श्रीलंका, नेपाल,, बांग्लादेश, म्यांमार, अफगानिस्तान जैसे देशों को वैक्सीन सप्लाई कर चुका है।

    भारत अपने लोगों को भी वैक्सीन देने में पूरी तरह समर्थ है और साथ ही भारत की निर्मित वैक्सीन को पड़ोसी देशों तक वितरित करने में भी। भारत में कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा चरण शुरू हो चुका है, जिसने 60 साल से ऊपर के सभी लोगों पर व 45 साल से ऊपर के बीमार लोगों को वैक्सीन दी जानी है। पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मियों, फ्रंटलाइन वर्कर व कोरोना वारियर्स को कोरोना का टीका लगाया गया था।

    भारत में लगातार कुछ समय से कोरोना वायरस केसों में गिरावट देखी जा रही थी, लेकिन पिछले 1 दिन में दिल्ली में सबसे ज्यादा केस रजिस्टर्ड हुए हैं। इस वक्त सबसे ज्यादा केस महाराष्ट्र और केरल से आ रहे हैं। इसके अलावा दिल्ली में भी लगातार कोरोनावायरस की संख्या बढ़ने का मामला देखा जा रहा है। देखा जा रहा है कि लोग कोरोना के लिए जारी दिशा-निर्देशों को गंभीरता से नहीं ले रहे हैं और बहुत से लोग सार्वजनिक स्थानों पर भी बिना मास्क के नजर आ रहे हैं। हालांकि राज्य सरकारें अपनी तरफ से लोगों को समझाने के लिए कई तरह के प्रयास कर रही हैं।

    पूरे देश भर में 34 दिन बाद आज सबसे ज्यादा कोरोना के नए मामले सामने आए। 17407 नए मामले आज के दिन दर्ज किए गए हैं। इससे पहले जनवरी में इतने ज्यादा केस एक साथ सामने आए थे। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक अब तक चार लाख से ज्यादा लोगों को कोरोना वायरस वैक्सीन की डोज़ दी जा चुकी है। वहीं अब तक 157435 लोग कोरोना के कारण अपनी जान गवां चुके हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.