Tue. Nov 29th, 2022
    कज़ाकिस्तान के राष्‍ट्रपति कासम झोमार्ट तोकायेव ने जनवरी 5 को EMERGENCY घोषित की

    कज़ाखस्तान  में गैस की आसमान छूती कीमतों के विरोध में शुरू हुआ प्रदर्शन अब पुरे देश में फैल चुका है जिससे देशभर में EMERGENCY घोषित हो गयी है। कई सरकारी इमारतों को आगजनी का सामना करना पड़ा है और इसमें 8 सुरक्षाकर्मियों की मौत भी हो गयी है। राष्‍ट्रपति कासम झोमार्ट तोकायेव (Kassym-Jomart Tokayev) ने बीती रात रूसी सुरक्षा ब्‍लॉक से अपील की थी कि वह इस प्रदर्शन को दबाने के लिए जल्द ही अपनी सेना भेजे। गौरतलब है कि हालात के बेहद हाथ से बेकाबू होने के बाद रूसी राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन ने गुज़री रात कज़ाखस्तान  के अनुरोध पर वहां अपने शांतिरक्षक सैनिकों को तैनात कर दिया है।

    कज़ाखस्तान  के गृह मंत्रालय ने यह सूचना दी है कि इस हिंसा में अब तक 8 पुलिस अधिकारी और नैशनल गार्ड के सदस्‍य मारे गए हैं और कम से कम  300 लोग घायल हुए हैं । कज़ाखस्तान  के राष्‍ट्रपति कासम झोमार्ट तोकायेव (Kassym-Jomart Tokayev) ने यह प्रण किया है कि वह अशांति को कुचल देंगे और इन हालातों के मद्देनज़र उन्होंने पूरे देश में दो सप्‍ताह के लिए आपातकाल (EMERGENCY) की घोषणा कर दी है। राष्‍ट्रपति ने जनता के इस प्रदर्शन को आतंकी खतरा करार दिया है।

    कज़ाखस्तान  की वित्‍तीय राजधानी अल्‍माटी में मंगलवार रात को हालात बेकाबू हो गए। अस्‍कार मामिन के इस्‍तीफे के बाद राष्‍ट्रपति कासम झोमार्ट ने समैलोव अलिखान को देश का कार्यवाहक प्रधानमंत्री बना दिया। इस आदेश में उन्होंने कहा है कि वर्तमान सरकार के सदस्य नई सरकार के गठन तक अपना काम करते रहेंगे।

    बता दें कि कज़ाखस्तान  में भीषण ठण्ड के मौसम में भी प्रदर्शनकारी जम के प्रदर्शन कर रहे है। पुलिस प्रदर्शकारियों का प्रदर्शन रोकने के लिए उन पर जमकर पानी बरसा रही है और उन्होंने प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस व् स्टन ग्रेनेड से भी हमला किया है। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि एलपीजी की कीमतों में वृद्धि अनुचित थी क्योंकि कज़ाखस्तान  में एलपीजी के विशाल भंडार है ।

     

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *