अगर मैं 37 साल की उम्र में ओलंपिक खेल सकता हूं तो सरदार सिंह 32 साल में विश्वकप क्यों नही खेल सकते: धनराज पिल्ले

धनराज पिल्ले

इंडियन हॉकी के अनुभवी खिलाड़ी धनराज पिल्ले भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और मीडफील्डर सरदार सिंह के समर्थन में आगे आये हैं। उन्होने कहा कि सरदार सिंह आने वाले हॉकी विश्वकप में टीम के लिए अच्छे रोल में सामने आ सकते थे।

32 साल के मीडफिल्डर सरदार सिंह ने हाल ही में अपने संन्यास का एलान किया था, और बाद में उन्होनें टीम के कोच रह चुके जोयर्ड मारिजने और डायरेक्टर डेविड जोन को अपने संन्यास के लिए दोषी ठहराया।

न्यूज-18 से बात करते हुए धनराज पिल्ले ने कहा कि जब मैं 37 साल की उम्र में ओलंपिक खेल सकता हूं, तो सरदार सिंह 32 साल की उम्र में हॉकी क्यों नहीं खेल सकते हैं। मैं मीडफील्डर के तौर पर उनका अनुभव महत्वपूर्ण हो सकता था।

धनराज ने कहा की टीम, सरदार सिंह के रुप मे एक फिट प्लेयर को याद करेंगी। उन्होनें यह भी कहा कि रुपिंदरसिंह और एसवी सुनिल की भी मैच के दौरान कमी खलेगी, लेकिन इंजरी का कोई कुछ नहीं कर सकता हैं। इन खिलाड़ियों ने भी टीम के लिए कई बार महत्वपूर्ण भूमिका निभाई हैं, लेकिन अब हम आगे की बात करे तो हमारी टीम इस वक्त भी एख मजबूत टीम हैं।

कुछ प्रमुख खिलाड़ियों की अनउपस्थिति में पिल्ले ने कहा कि पी आर श्रीजेश, कप्तान मनप्रीत सिंह और अक्षदीप सिंह को टीम के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभानी होगी। श्रीजेश टीम के लिए एक अहम भूमिका निभा सकते हैं केवल गोलकीपर के रोल में ही नही बल्कि टीम को पीछे से हौसला भी देंगे, और तो वही मनप्रीत मीडफील्ड के रुप में अच्छे गोल दाग सकते हैं। वह टीम के कप्तान है और टीम के लिए एक अनुभवी खिलाड़ी भी हैं। मुझे उम्मीद हैं की उनके लिए यह टूर्नामेंट बहुत अच्छा होगा।

हॉकी विश्वकप की बात करते हुए धनराज पिल्ले ने कहा कि, अनुभवी खिलाड़ियों को अपना अच्छा खेल दिखाना होगा और भारतीय टीम को पहले मैच में दक्षिण-अफ्रीका को हराकर टीम को लिए एक बहतरीन शुरुआत करनी होगी। उन्होने कहा की अपने खिलाड़ियो का आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए टीम को पहला मैच जरुर जीतना चाहिए। इससे क्वार्टरफाइनल की राह भी आसान हो जाएगी।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here