Mon. Sep 26th, 2022
    ऑपरेटिंग सिस्टम (operating system in hindi)

    ऑपरेटिंग सिस्टम के कार्य (function of operating system in hindi)

    काफी तरह के कार्य ऑपरेटिंग सिस्टम (operating system) के द्वारा किए जाते हैं। ऑपरेटिंग सिस्टम का मकसद उपयोगकर्ता और हार्डवेयर के बीच सिस्टम पर काम करने के लिए इंटरफ़ेस देने के लिए किया जाता है।

    काफी तरह के कार्य ऑपरेटिंग सिस्टम की मदद से किए जाते हैं वह कुछ इस प्रकार हैं –

    1. प्रबंधक के रूप में ऑपरेटिंग सिस्टम का कार्य (Resource Manager)

    ऑपरेटिंग सिस्टम को हम संसाधन प्रबंधक के रूप में भी जानते हैं। इसका मतलब यह है की ऑपरेटिंग सिस्टम जीतने भी उपकरण सिस्टम से जुड़े हुए हैं उन सभी को चलाने में सहायक का काम करता है।

    ऑपरेटिंग सिस्टम यह भी बताता है की सीपीयू किस समय पर कौनसा कार्य करेगा और किस समय पर सिस्टम की मेमोरी किस प्रोग्राम में इस्तेमाल होगी और किस समय पर कौनसा इनपुट उपकरण इसका जवाब देगा, इन सभी कार्यों की जानकारी यह हमें देता है। इस तरह से यह जीतने भी कम्प्युटर सिस्टम होंगे सबको यह इस तरह से संभालने का काम करता है।

    2. स्टोरेज प्रबंधक के रूप में (Storage Management)

    यह सारी स्टोरेज का भी ध्यान रखता है इसका मतलब यह है की किस तरह डाटा फाइलों को कम्प्युटर में किस जगह पर रखा जाए। जीतने भी तरीकों से फाइल को स्टोर किया और चलाया जाता है वह ऑपरेटिंग सिस्टम द्वारा ही किया जाता है।

    ऑपरेटिंग सिस्टम हमें फाइल को बनाने में भी मदद करता है जिससे की हम प्रभावी रूप से कम्प्युटर में काम कर सकें। यह एक जगह से दूसरी जगह फाइल को कॉपी करने में भी काम आता है।

    3. प्रोसैस प्रबंधन (Process Management)

    ऑपरेटिंग सिस्टम प्रोसैस मैनेजमेंट में भी काफी सहायक होता है। जीतने भी कार्य सीपीयू द्वारा सिस्टम को करने के लिए दिये जाते हैं उन सभी में ऑपरेटिंग सिस्टम काफी मदद करता है। ऑपरेटिंग सिस्टम यह बताता है की किस कार्य को कब चलाना है और कब रोकना है।

    4. मेमोरी प्रबंधन (Memory Management)

    यह कम्प्युटर की मेमोरी को भी संभालने का काम करता है जिससे की जिस भी कार्य में एमोरी की जरूरत है यह उस कार्य में मेमोरी दे सके।

    यह किसी भी कार्य में से मेमोरी को इधर उधर भी कर सकता है। कार्य के समाप्त होते ही यह मेमोरी को दुबारा अपने स्थान पर पहूँचा देता है।

    5. ऑपरेटिंग सिस्टम का कार्य एक्स्टेंडेड मशीन में (Extended Machine)

    ऑपरेटिंग सिस्टम एक्स्टेंडेड मशीन के रूप में भी काम करता है। यह हमें काफी सारी फाइलों को बहुत सारे लोगों से शेयर करने में भी मदद करता है।

    यह हमें काफी सारी भाषाओं में वार्तालाप करने में भी उपयोगी होता है। यह हमें काफी सारे सॉफ्टवेयर, हार्डवेयर को इस्तेमाल करने में भी मदद करता है।

    इस लेख से सबंधित यदि आपका कोई भी सवाल या सुझाव है, तो आप उसे नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

    2 thoughts on “ऑपरेटिंग सिस्टम के कार्य, अनुप्रयोग”
    1. Ye operating system kitne types ke hota hain or inke use kya kya hote hain?
      Kya ek machine me operating system ka honaa jaroori hai?

      1. Operating system kaafi tarah ke hote he jese windows (xp, vista, 7,8,10 etc ), linux (kali , ubuntu , backtrack , mint etc ) , mac , android , iphone os or bhi bahut saare .

        Kese un machine me os (operating system hona jaruri he jo calculations , graphics , memory management , files management etc karte ho .

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.