ग्राहकों का डाटा लीक घटना पर एसबीआई बैंक ने कहा “ग्राहक रहें आश्वस्त, डाटा सुरक्षित है”

Must Read

भारत में कोरोनावायरस के मामले 1.5 लाख के करीब, पढ़ें पूरी जानकारी

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने आज कहा है कि 6,535 नए संक्रमणों के बाद भारत में कोरोनोवायरस बीमारी (COVID-19) के...

कबीर सिंह के लिए पुरुष्कार ना मिलने पर शाहिद कपूर ने दिया यह जवाब

कल मंगलवार शाम को शाहिद कपूर (Shahid Kapoor) ने ट्विटर पर अपने प्रशंसकों से बात करने की योजना बनायी...

सिक्किम के बाद लद्दाख में भारत और चीन की सेना में टकराव

सिक्किम में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच झड़प की खबरों के बाद उत्तरी सीमा पर दोनों देशों के...
विकास सिंह
विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

कुछ समय पहले खबर मिली थी की एसबीआई के एक आधिकारिक सर्वर से लाखों ग्राहकों की निजी जानकारी लीक हो गयी है। इसका कारण सर्वर पर सिक्यूरिटी ना रखना बताया जा रहा था। इस पर एसबीआई ने हाल ही में बयान देकर इसे गलत बताया है।

एसबीआई का बयान :

लोगों द्वारा लगाए गए इन इल्जामों को नकारते हुए एसबीआई ने बयान दिया है की ऐसी खबर मिलते ही सभी सर्वर की सुरक्षा कू फिर से जांचा गया था और इससे हमें कोई भी लीक की जानकारी नहीं मिली। हम मीडिया द्वारा दी जा रही रिपोर्ट्स को गंभीरता से ले रहे हैं। ‘

इसके साथ ही हम अपने ग्राहकों को आश्वस्त कर देना चाहते हैं की उनकी जानकारी जानकारी को लीक होने का कोई खतरा नहीं है और वह पूरी तरह सुरक्षित है। इसके लिए एक अलग इन्वेस्टीगेशन कराई गयी थी।

एसबीआई

एसबीआई ने कराई सुरक्षा की जांच :

एसबीआई ने बताया की जैसे ही डाटा लीक होने की ख़बरें सुनने को मिली तो बैंक की तरफ से सभी सर्वर की सुरक्षा की एक जांच कराई गयी। जांच मिएँ किसी भी तरह की असुरक्षा नज़र नहीं आई। अतः ग्राहकों की निजी जानकारी पूरी तरह सुरक्षित है।

एसबीआई ने रिपोर्ट में कहा “प्रक्रिया दूरसंचार प्रदाताओं और एग्रीगेटर की सेवाओं का उपयोग करती है जिनके पास इस क्षेत्र में अनुभव है। उनके लिए सख्त प्रोटोकॉल स्थापित किए जाते हैं। जांच से पता चला है की 27 जनवरी  जो घटना हुई थी उसमे किसी भी ग्राहकों की जानकारी को किसी भी प्रकार का खतरा नहीं था।

डाटा लीक घटना की जानकारी :

टेकक्रंच द्वारा पेश की गयी रिपोर्ट जिसमे ग्राहकों की जानकारी लीक होने की चर्चा थी, उसमे पता चला कोई यह जांच एक अज्ञात सुरक्षा शोधकर्ता द्वारा की गयी थी जिसने एसबीआई की सुरक्षा जांचने के लिए ऐसा किया था लेकिन जब ऐसे हाल मिले तो उसने तुरंत अधिकारियों को जानकारी दी। इससे जल्द ही सर्वर को सुरक्षित कर दिया गया।

टेकक्रंच ने बताया की बैंक ने अपने सर्वर को सुरक्षित करने के लिए कोई पासवर्ड नहीं लगा रखा था। इस समय यदि कोई संदिध व्यक्ति जानकारी लेने की कोशिश करता तो ऐसा आसानी से किया जा सकता था। लेकिन समय रहते इसे सुरक्षित कर दिया गया।

एसबीआई का कौनसा सर्वर था असुरक्षित :

टेकक्रंच ने बताया की असुरक्षित सर्वर एसबीआई क्विक सुविधा का हिस्सा था। एसबीआई क्विक के द्वारा बैंक ने ग्राहकों को एक संदेश भेजने या बुनियादी बैंकिंग कार्यों को करने के लिए कॉल करने की अनुमति दी।

बैंक अपनी वेबसाइट पर इस सेवा के बारे में बताता है, “SBI क्विक – मिस कॉल कॉलिंग बैंक की एक निशुल्क सेवा है, जिसमें आप अपना अकाउंट बैलेंस, मिनी स्टेटमेंट प्राप्त कर सकते हैं और केवल एक मिस्ड कॉल देकर अपने पंजीकृत मोबाइल नंबर से निर्धारित मोबाइल नंबर पूर्व-निर्धारित कीवर्ड के साथ एक एसएमएस भेजकर प्री-डिफाइंड कीवर्ड प्राप्त कर सकते हैं । कृपया सुनिश्चित करें कि आपके मोबाइल नंबर को आपके खाते में अपडेट किया गया है ताकि आप इस सेवा के लिए पंजीकरण कर सकें।”

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

भारत में कोरोनावायरस के मामले 1.5 लाख के करीब, पढ़ें पूरी जानकारी

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने आज कहा है कि 6,535 नए संक्रमणों के बाद भारत में कोरोनोवायरस बीमारी (COVID-19) के...

कबीर सिंह के लिए पुरुष्कार ना मिलने पर शाहिद कपूर ने दिया यह जवाब

कल मंगलवार शाम को शाहिद कपूर (Shahid Kapoor) ने ट्विटर पर अपने प्रशंसकों से बात करने की योजना बनायी और लोगों से सवाल पूछने...

सिक्किम के बाद लद्दाख में भारत और चीन की सेना में टकराव

सिक्किम में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच झड़प की खबरों के बाद उत्तरी सीमा पर दोनों देशों के सैनिकों के बीच टकराव की...

औरंगाबाद में रेल के नीचे आने से 16 मजदूरों की मौत, 45 किमी की दूरी तय करने के बाद हुई घटना

महाराष्ट्र (Maharashtra) के औरंगाबाद (Aurangabad) शहर में शुक्रवार सुबह कम से कम 16 प्रवासी श्रमिक ट्रेन के नीचे कुचले गए, जब वे मध्य प्रदेश...

भारत में कोरोनावायरस के आंकड़े 50,000 के पार, महाराष्ट्र में सबसे भयानक स्थिति

भारत (India) में कोरोनावायरस (Coronavirus) से संक्रमित लोगों की संख्या में पिछले दो दिनों में 14 फीसदी की वृद्धि देखि गयी है। यह आंकड़ा...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -