एरोबिक्स एक्सरसाइज क्या है? फायदे, तरीका


हमारे शरीर को तंदरुस्त रखने के लिए हमें सुबह जल्दी उठकर व्यायाम करने को कहा जाता है। एरोबिक्स ऐसे ही व्यायाम का एक प्रकार है, जिसे हम आसानी से अपने घर पर, या घर के आसपास, कर सकते हैं।

ये व्यायाम, अन्य दूसरे व्यायाम से ज़्यादा सरल हैं, और इन्हें करने के लिए हमें ज़्यादा मेहनत भी नहीं करनी पड़ती है। लेकिन सिर्फ एक या दो दिनों के करने से, एरोबिक्स का अच्छा असर हमारे शरीर पर नहीं पड़ता है। इसलिए हमें इसका प्रयोग रोज़ाना करना चाहिए।

एरोबिक्स एक्सरसाइज क्या है?

1. चलना

चलना व्यायाम का एक बहुत ही सहज और प्राक्रतिक तरीका है, जो बच्चों से लेकर बूढ़ों तक कोई भी कर सकता है। इसमें ना तो कोई समय की पाबंदी होती है, और ना ही कोई उपकरण की ज़रूरत।

चलने से हमारे शरीर को ना सिर्फ औक्सिजन मिलता है, बल्कि हम थोड़ी देर के लिए अपने सारे परेशानियाँ भूल जाते हैं, जिसका सकारात्मक प्रभाव सीधा हमारे स्वास्थ्य पर पड़ता है।

2. सीढ़ियों के व्यायाम

चलने के अलावा, सीढ़ियों से चढ़ने और उतरने से भी, हमारे शरीर को एक अच्छा व्यायाम मिल जाता है।

बहुत से ऐथलीट, अपने शरीर को मज़बूत, और किसी भी दौड़ के लिए अपने शरीर को तैयार रखने के लिए, इस व्यायाम को अपनाते हैं।

आज-कल कई सारे जिम में भी इस तरह के व्यायाम करने के लिए उपकरण पाए जाते हैं। लेकिन आप इसका प्रयोग अपने रोज़्मर्रा की ज़िंदगी में, ऐसे ही कर सकते हैं – लिफ्ट का इस्तेमाल ना कर, आप सीढ़ियों से उपर-नीचे जा-आ सकते हैं। इससे हमारे शरीर में चुस्ती और एक ताकत पैदा हो जाती है।

3. साइकिल चलाना

अगर आप सोचते हैं कि साइकिल चलाना सिर्फ बच्चों क एक खेल है, तो आप गलत हैं। कई प्रकार के खिलाड़ी इसी खेल को अपने शरीर के लिए एक व्यायाम का रूप देते हैं।

यह एक ऐसा व्यायाम है जो हमें मज़े के साथ, शरीर की तंदरुस्ती देता है, और वो भी बिना हमारे जोड़ों को तक्लीफ दिए। दिन में आधे घंटे के लिए साइकिल चलाने से हमारे पैरों के मसल मज़बूत हो जाते हैं, और हमारे शरीर को एक तरह का लचीलापन भी मिल जाता है।

इस व्यायाम के लिए भी जिम में उपकरण मौजूद होत हैं, तो आप इधर भी इस व्यायाम को कर सकते हैं।

4. हाथों के लिए व्यायाम

हाथों के व्यायम से हमारे छाती के मसल को फायदा होता है। इसे करने के लिए हमें किसी भी तरह के उपकरण की आवश्यकता नहीं होती है। इसे करने के लिए:

  • आपको सबसे पहले एक सैनिक की तरह अपने हाथों दाएँ-बाएँ उपर उठाते हुए चलना है और धीरे से, अपने चलने के रफ्तार को बढ़ाना है।
  • ये करने के साथ ही, इस बात क ध्यान रखिए कि आपके घुटने इतने ऊँचे उठने चाहिए जिसके वजह से आपके जांघ और पैरों को भी व्यायाम मिले
  • अब आपके पैरों के उठने के साथ ही, एक-एक करके अपने हाथों को एक चक्कर में, आगे-पीछे घुमाइए।

5. पानी के व्यायाम

पानी के व्यायाम भी हमारे शरीर को मज़े के साथ-साथ, तंदरुस्ती देते हैं। पानी के व्यायाम का एक प्रकार है तैरना।

तैरने से हमारे शरीर को पूरी तरह से तन्दरुस्ती मिलती है। इसके अलावा पानी में तेज़ी से चलने भी, हमारे पैर मज़बूत बन जाते हैं।

जिन लोगों के पैरों को खून के भाव की तक्लीफ मेहसूस होती है, उन लोगों को ये व्यायाम ज़रूर करना चाहिए।

6. नाचना

नाचना भी एक ऐसा चीज़ है जो हम सब खुशी, और जी-जान से करते हैं। लेकिन क्या आप इस बात से वाकिफ थे कि यही चीज़, हमारे शरीर के लिए एक व्यायाम बन जाता है?

नाचने से हमारे शरीर को एक अलग ही चुस्ती मिलती है जिससे हम अपने परेशानियों से दूर हो जाते हैं, और खुश नज़्र आते हैं।

साथ ही, नाचने के द्वारा कूदने से, घुमने से, झुकने से आदि, हमारे शरीर को वैसे ही पूरी तरह से बहुत अच्छा व्यायाम मिल जात है, जिससे हम स्वस्थ रहते हैं।

ये थे कुछ ऐरोबिक्स के व्यायाम जिनसे हमें खुशी और मज़े के साथ साथ, तंदरुस्ती भी मिलती है।

एरोबिक्स करने के तरीके

एरोबिक्स करने के दो तरीके होते हैं:

  1. लम्बे समय का कार्डिओ
  2. मध्यांतर अभ्यास (interval training)

1. लम्बे समय का कार्डिओ

इसमें हम वो व्यायाम करते हैं जो हम एक मबे समय के लिए एक ही रफ्तार में कर साते हैं। जैसे कि एक घंटे के लिए एक ही रफ्तार में चलना।

ये करने से हमारे कैलरीज़ घट जाते हैं। जितनी ज़्यादा देर तक हम चलेंगे, उतने हि ज़्यादा कैलरीज़ घटेंगे, जिसके कारण हमारा वज़न भी घट जाता है।

इसके फायदे

लम्बे समय के कार्डिओ के असर और फायदे हमारे शरीर थोड़ी ही देर में य तुरंत मिल जाते हैं। जैसे कि:

  1. हमारे कैलरीज़ घट जाते हैं।
  2. इनके करने के बाद हमारे शरीर को किसी भी परकार के दुष्प्रभाव मेहसूस नहीं होते।
  3. हमारे शरीर के चयापचय (metabolic) प्रक्रिया में बदलाव नहीं नज़र आते हैं।

2. मध्यांतर अभ्यास (interval training)

इसमें हम अपने व्यायाम करने के तरीके में उनके ताकत और शक्ति लगने के आधार पर, उन्हें एक के बाद एक करते हैं।

ये वज़न घटाने का एक बहुत ही अच्छा तरीका है, और इसे उन लोगों को करना चाहिए जिन्हें व्यायाम का पहले से अच्छा अभ्यास हो, और नाकी शुरुआती लोगों को।

इसके फायदे

  1. हमारे शरीर के कैलरीज़ को कम करते तो हैं ही, लेकिन साथ ही हमारे शरीर को काफी सहनशील भी बनाते हैं।
  2. इसके फायदे हमें थोड़ी देर में ही दिख जाते हैं।
  3. जैसा की पहले बताया गया है, यह वज़न कम करने का भी एक अच्छा तरीका है।

तो इस आर्टिकल से ये निष्कर्ष निकलता है कि एरोबिक्स व्यायाम करने का और्हमारे शरीर को तंदरुस्त रखने का एक बहुत ही सहज और मज़ेदार तरीका है, जिसे व्यायाम के आधार पर हर उम्र के लोग कर सकते हैं।

इन्हें करने से हमारे कैलरीज़ तो कम होते ही हैं, लेकिन साथ ही हमारा ह्रदय भी मज़बूत और स्वस्थ रहता है।

अगर आपको इस विशय में कोई भी सवाल या सुझाव हो तो, आप नीचे कमेन्ट कर सकते हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here