Sat. Apr 20th, 2024

    एयरटेल और वोडाफोन, जोकि भारत के शीर्ष टेलिकॉम सुविधा प्रदाताओं में शामिल हैं, ने हाल ही में अपने ग्लोबल रोमिंग रेट में बढ़ोतरी की है। जहां वोडाफोन ने इन दरों में 20 प्रतिशत का इजाफा किया, एयरटेल ने 25 प्रतिशत तक ये दरें बढा दी है।

    एयरटेल और वोडाफोन के रोमिंग प्लान :

    वर्तमान में संशोधन के बाद अब वोडाफोन के निम्न रोमिंग प्लान हैं। इसके रोमिंग प्लान में 599 रूपए , 2,999 रूपए, 3,999 रूपए, और 5,999 रूपए के प्लान शामिल हैं। इससे पहले इन प्लानों का मूल्य 500 रूपए, 2500 रूपए, 3500 रूपए और 5500 रूपए था लेकिन अब संशोधन के बाद इन प्लानों में 20 प्रतिशत तक का इजाफा हो गया है।

    क्या है दर बढाने का कारण :

    इकनोमिक टाइम्स के मुताबिक यदि कुछ समय पहले की बात की जाए तो एयरटेल और वोडाफोन भारत के शीर्ष टेलिकॉम प्रदाता थे लेकिन 2016 में जिओ के आने से लेकर ही दोनों का बुरा वक्त शुरू हो गया था। जिओ ने कम मूल्य पर बेहतर सुविधाएं प्रदान कर इन दोनों प्रदाताओं के करोड़ों यूजर्स को आकर्षित कर लिया था।

    ऐसा होने के बाद वोडाफोन और एयरटेल को घाटा होने लगा। ऐसे में वे जिओ के साथ अपने मूल्य कम करके नहीं लड़ साकेत इसलिए इन्होने टैरिफ रेट के अलावा दुसरे क्षत्र की तलाश जारी की। इसके अंतर्गत वे ग्राहाकों को अमेज़न प्राइम या नेत्फ्लिक्स का भी सब्सक्रिप्शन देने लगे और अब उन्होंने ग्लोबल रोमिंग रेट भी बढाए हैं जिससे उन्हें लग रहा है की वे घाटे को नियंत्रित कर पायेंगे।

    एयरटेल ने पिछली तिमाही में अपनी ARPU पर केन्द्रित होकर योजनाएं बनाना शुरू किया था और उसी इ=के अंतर्गत इसने न्यूनतम रिचार्ज प्लान की घोषणा की थी। हालंकि ऐसा करने से इसके ग्राहकों को संख्या में गिरावट हुई थी लेकिन अभी तक उसके ARPU में थोडा सुधार देखा गया है।

    विशेषज्ञों का मत :

    वोडाफोन और एयरटेल के इस कदम पर विशेषज्ञों का कहना है की अपने हालातों को सुधारने के लिए यह एक सही कदम है। जितना की इन प्रदाताओं को घरेलु बाज़ार में प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ रहा है उतना ग्लोबल मार्किट में नहीं है अतः यदि वे रेट बढ़ाएंगे तो उन्हें नुक्सान नहीं होने वाला है।

    हमें यह भी जान लेना चाहिए कीई यह केवल शुरुआत है क्योंकि अपनी आय को फिर से सुधारने के लिए ये दोनों प्रदाता भरसक प्रयास करेंगे और इसके लिए वे और भी कई सेवाओं का मूल्य बढ़ा सकते हैं।

    By विकास सिंह

    विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *