Sat. Jul 13th, 2024
    वर्ड में थिसॉरस thesaurus in ms word in hindi

    विषय-सूचि

    वर्ड में थिसॉरस क्या है? (thesaurus in ms word in hindi)

    अगर अंग्रेजी व्याकरण की बात करें तो थिसॉरस का अर्थ हुआ पर्यायवाची शब्दों का संग्रह या कोष। जैसे आप किसी भी शब्द का प्रयोग करते हैं तो उनमे से कई के ढेरों पर्यायवाची शब्द होते हैं।

    एमएस वर्ड में भी थिसॉरस के मदद से आप किसी भी शब्द पर क्लीक कर के उसके समानार्थी शब्दों को देख सकते हैं और यही नही बल्कि उसके विलोमार्थी शब्द भी देखे जा सकते हैं।

    यहाँ पर हम आपको बताएंगे कि कैसे थिसॉरस का प्रयोग आपके डॉक्यूमेंट में किसी भी शब्द का अर्थ समझने में मददगार हो सकता है।

    कैसे करें थिसॉरस का प्रयोग? (how to use thesaurus in ms word in hindi)

    नीचे दिए गये स्टेप्स द्वारा आप समझ सकते हैं कि एमएस वर्ड का डॉक्यूमेंट बनाते समय थिसॉरस का प्रयोग कैसे करें:-

    1. सबसे पहले अपने माइक्रोसॉफ्ट वर्ड के उस डॉक्यूमेंट को खोलें जिसमे आपको थिसॉरस का प्रयोग करना हो।
    2. अपने डॉक्यूमेंट में वो शब्द खोजें जिसके लिए आप थिसॉरस का प्रयोग करना चाहते हैं या यूँ कहें कि जिस शब्द के समानार्थी शब्दों का कोष खोलना चाहते हैं। उस शब्द को सेलेक्ट करें।
    3. अब उस शब्द पर राईट क्लीक करें जिसके बाद एक ड्रापडाउन मेनू खुलेगा और उसमे कई ऑप्शन होंगे।
    4. अब नीचे दिख रहे आप्शन में से Synonyms पर क्लीक करें जिसके बाद एक पॉप-आउट विंडो खुल जाएगा। 
    5. इस पॉप-आउट विंडो में सबसे नीचे जो आप्शन होगा वो होगा Thesaurus और आपको उसी पर क्लीक करना है जिसके बाद आपने जो शब्द चुना था उसके समानार्थी या पर्यायवाची शब्दों का एक संग्रह खुल जाएगा। 
    6. अब दिख रहे शब्दों के लिस्ट में से जिस भी शब्द को आपको अपने मूल शब्द के बदले प्रविष्ट करना हो उसके दाहिनी तरफ नीचले तीर वाले आइकॉन पर क्लीक करें। अब तीन आप्शन खुलेंगे जिनमे से आपको Insert दबाना है।ये करते ही आपका मूल शब्द की जगह अभी चुना गया उसका समानार्थी शब्द आपके डॉक्यूमेंट में वहां आ जाएगा।

    तो उपयुक्त प्रक्रिया द्वारा आप अपने डॉक्यूमेंट में अगर कोई शब्द वहां पर फिट नही बैठता है तो उसकी जगह थिसॉरस का प्रयोग कर के उसके किसी उचित समानार्थी शब्द को डाल सकते हैं।

    इस लेख के सन्दर्भ में यदि आपका कोई भी सवाल या सुझाव है, तो आप उसे नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

    By अनुपम कुमार सिंह

    बीआईटी मेसरा, रांची से कंप्यूटर साइंस और टेक्लॉनजी में स्नातक। गाँधी कि कर्मभूमि चम्पारण से हूँ। समसामयिकी पर कड़ी नजर और इतिहास से ख़ास लगाव। भारत के राजनितिक, सांस्कृतिक और भौगोलिक इतिहास में दिलचस्पी ।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *