दा इंडियन वायर » खेल » एमएस धोनी: ये हमारी घरेलू परिस्थितियां थी, हमें पिच का आंकलन सही से करने की जरुरत थी
खेल

एमएस धोनी: ये हमारी घरेलू परिस्थितियां थी, हमें पिच का आंकलन सही से करने की जरुरत थी

एमएस धोनी

चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी आईपीएल के पहले क्वालीफायर में मंगलवार को अपनी टीम के प्रदर्शन से नाखुश नजर आए क्योंकि उनकी टीम चेपॉक के धीमे ट्रेक को पढ़ने में नाकाम रही और मुंबई इंडियंस के खिलाफ मैच का दौरान बल्लेबाजो का शॉट सेलेक्शन भी नियंत्रण में नही दिखा जिसके चलते टीम को 6 विकेट से हार का सामना करना पड़ा।

पहले क्वालीफायर मैच में पहले बल्लेबाजी करने उतरी एमएस धोनी की अगुवाई वाली सीएसके निर्धारित 20 ओवर में 4 विकेट के नुकसान पर केवल 131 रन ही बना सकी। जिसे मेहमान मुंबई ने 18.3 ओवर में ही हासिल कर लिया।

पोस्ट-मैच समारोह पर एमएस धोनी ने कहा, ” घर पर, हमें जल्दी से परिस्थितियों का आकलन करना था। हम यहां पहले ही 6 से 7 मैच खेल चुके है, यही एक घरेलू फायदा होता है। हम जानते है कि यह की पिच कैसा बर्ताव करती है, क्या यह कठीन होगी? क्यां गेंद सही समय पर आ रही है या नही, यह चीजे है जहां हम अच्छा नही कर पाए, मुझे लगता है बल्लेबाजी को बेहतर करने की जरुरत है।”

धोनी इस तथ्य के बारे में विशेष रूप से महत्वपूर्ण थे कि पिछले कुछ मैचों के दौरान शॉट का चयन कई मामलों में सर्वश्रेष्ठ नहीं था।

उन्होने आगे कहा, ” ये सबसे अच्छे बल्लेबाज हैं जो हमें मिले हैं, ऐसा लग रहा है कि हम अच्छी बल्लेबाजी कर रहे हैं, लेकिन कई बार, अलग-अलग खेलों में, वे ऐसे शॉट्स खेलते हैं, जिन्हें नहीं खेलना चाहिए। ये वो खिलाड़ी हैं, जिन पर हमने नजर रखी है। ये सब अनुभवी खिलाड़ी है और वह जानते है ऐसी परिस्थितियों पर कैसा खेलना है, उम्मीद है हम अगले मैच में अच्छा करेंगे।”

जबकि स्पिनरों के पास बचाव करने के लिए एक बड़ा कुल नहीं था, धोनी ने सोचा कि उन्हें बल्लेबाजों से थोड़ा व्यापक गेंदबाजी करनी चाहिए थी।

धोनी ने कहा, ” मुझे लगता है कि हम कई बार थोड़े बदकिस्मत थे, मिडल में कई गेंद ड्रॉप कि गई, कई कैच भी छोड़े गए। हमें शायद बल्लेबाजों से थोड़ा हटकर गेंदबाजी करनी थी, हमारे पास बोर्ड पर रन नहीं थे, 130 रनो का बचाव करते हुए हर बाउंड्री महंगी पड़ रही थी।”

About the author

अंकुर पटवाल

अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!