Wed. Oct 5th, 2022
    HAL

    हाल ही में अपने ऊपर लगे ‘उत्पादन की अक्षमताओं’ सहित तमाम आरोपों को पीछे छोडते हुए हिंदुंस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) ने इस वित्तीय वर्ष अपनी कमाई का रिकॉर्ड बनाया है।

    एचएएल के मुनाफे और राजस्व में आए उफान के बाद इस साल कंपनी ने करीब 18,28,386 लाख रुपये की कमाई की है। एचएएल का यह अभी तक का रिकॉर्ड प्रदर्शन रहा है। इसके पहले वर्ष 2016-17 में कंपनी ने करीब 17,60,379 लाख रुपये की कमाई की थी।

    हाल ही में भारत की रक्षा मंत्री निर्मला सीतारामण ने एचएएल की कार्य क्षमता को लेकर सवाल उठाए थे। एक रिपोर्ट के अनुसार एचएएल ने इस वर्ष करीब 40 एयरक्राफ्ट व हेलीकॉप्टरों का उत्पादन किया है, जिसमें ध्रुव व चीतल हेलीकॉप्टर के साथ ही तेजस व डॉर्नियर जैसे विमान भी शामिल हैं।

    एचएएल के नए चेयरमैन ने कंपनी की 55वीं आमसभा में कंपनी के शेयरधारकों को सम्बोधित करते हुए कहा कि “कंपनी अपने शेयरधारकों का धन्यवाद देती है, जिन्होंने कंपनी पर अपना भरोसा दिखाया। इसी सहयोग की वजह से कंपनी ने कई बाधाओं को पार करते हुए भी इस तरह के राजस्व की प्राप्ति की है।”

    इससे पहले निर्मला सितारामण ने एचएएल पर टिप्पणी करते हुए कहा था कि एचएएल की उत्पादन क्षमताओं में कमी के चलते ही उसे 126 ‘राफेल’ विमानों की डील में शामिल होने से वंचित रखा गया है।

    इसी पर पलटवार करते हुए एचएएल के एक अधिकारी ने एएनआई से बात करते हुए कहा है कि “हम फिलहाल सुखोई और मिग जैसे जटिल विमानों पर काम कर रहे हैं, इसके लिए हम मूल उपकरण निर्माताओं (OEM) से भी बात कर रहे हैं और यदि हम उसमें (राफेल) में शामिल हुए होते तो हम उसे भी सफलतापूर्वक पूरा करते।”

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.