Thu. Jun 13th, 2024
    HAL चीफ आर. माधवन

    हिंदुस्तान ऐरोनॉटिक्स लिमिट्स के नए चीफ आर. माधवन ने कहा है कि एचएएल ऑफसेट बिजनेस नहीं करता सिर्फ एयरक्राफ्ट का निर्माण करता है।

    उन्होंने कहा कि एचएएल कभी ऑफसेट पार्टनर के लिए दावेदार था ही नहीं। माधवन ने राफेल पर राजनीति से कंपनी को दूर रखने की सलाह भी दी। ये बातें माधवन ने इकोनॉमिक्स टाइम्स को दिए एक इंटरव्यू में कही। माधवन ने सितम्बर में पदभार संभाला था।

    ऐसे समय में जब विपक्ष सरकार पर राफेल डील में गलत ढंग से ऑफसेट पार्टनर चुनने का आरोप लगा रहा है माधवन का बयान सरकार के लिए राहत बन कर आया है।

    माधवन ने कहा कि एचएएल ने अपने कर्मचारियों से इस मुद्दे पर किसी भी राजनितिक दल के साथ संपर्क में नहीं रहने को कहा है। उनका कहना है कि इससे कंपनी की छवि को नुकसान पहुँच सकता है।

    माधवन ने कहा कि हमारा काम एयरक्राफ्ट बनाना है। ऑफसेट बिजनेस हमारा काम नहीं है। जब हम इस डील में दावेदार ही नहीं थे तो इस पुरे विवाद में हमारा नाम घसीटना हमारे प्रतिष्ठा के लिए सही नहीं।

    इस पुरे विवाद में अपने कर्मचारियों को संभालने के सवाल पर माधवन ने कहा कि ‘हमारा संदेश स्पष्ट है – कृपया इसमें एचएएल न लाएं। हमारा काम हमारे स्टेकहोल्डर्स के लिए हमारे आउटपुट को बढ़ाना है। हमने अपने लोगों को इस मुद्दे पर किसी भी राजनीतिक दल से शामिल न होने के लिए कहा है क्योंकि पूरी चीज का एचएएल पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।’

    उन्होंने कहा कि ‘हमारे यूनियनों ने भी साफ़ साफ़ कहा है कि वे इसमें से किसी भी पार्टी के साथ नहीं है। हम कोई राजनितिक संस्था नहीं है जिसका इस्तमाल कोई भी पार्टी अपने राजनितिक लाभ के लिए करे।’ माधवन ने ये भी कहा कि यूनियनों ने ये व्यक्तव्य बिना हमारे जानकारी के दिया है। आखिर उन्हें भी अपने संस्थान के छवि की फ़िक्र है।

    By आदर्श कुमार

    आदर्श कुमार ने इंजीनियरिंग की पढाई की है। राजनीति में रूचि होने के कारण उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ कर पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखने का फैसला किया। उन्होंने कई वेबसाइट पर स्वतंत्र लेखक के रूप में काम किया है। द इन्डियन वायर पर वो राजनीति से जुड़े मुद्दों पर लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *