Thu. May 23rd, 2024
    difference between android and windows phone in hindi

    विषय-सूचि

    एंड्राइड और विंडोज फोन का इतिहास (history of android and windows phone in hindi)

    एंड्राइड एक ओपन सोर्स लिनक्स पर चलने वाला ऑपरेटिंग सिस्टम (operating system) है जो की मुफ्त है।

    इसे हम सामान्य रूप से स्मार्ट फोन और टैब्लेट में इस्तेमाल करते है। इस सिस्टम को Android Inc. द्वारा बनाया गया था जिसे बाद में गूगल द्वारा 2005 में खरीदा गया।

    विंडोज फोन माइक्रोसॉफ़्ट द्वारा बनाया गया और बाज़ार में निकाला गया और इस पर माइक्रोसॉफ़्ट का कॉपीराइट भी है।

    विंडोज फोन एक क्लोज्ड सोर्स है जो की कंपनी द्वारा बनाया जाता है और कॉपीराइट द्वारा सुरक्षित रखा जाता है। कंपनी के द्वारा नए फीचर निकले गए पुराने विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम से बेहतर।

    एंड्राइड v/s विंडोज फोन v/s आईफोन से पहले विंडोज पाम पायलट और पॉकेट पीसी ने बाज़ार में अपना दब दबा बनाया हुआ था। यह बिज़नेसमैनस में इसलिए चर्चित था क्योंकि इसमे वो एक ही जगह पर अपने फोन नंबर और अपोइंटमेंट्स रखते थे। फिर उसके बाद 2007 में बाज़ार में एंड्राइड आया फिर इसके बाद तकनीकी में काफी बदलाव आये जिनको हम आज तक देख रहे हैं।

    पहले लोग सोच रहे थे की एंड्राइड बाज़ार में इतना नहीं चल पाएगा पर उसके बाद देखा गया की इसकी डिमांड बढ़ती गयी और यह बाज़ार में काफी चल भी रहा है, यह बाज़ार में सबसे चर्चित ऑपरेटिंग सिस्टम है। एंड्राइड ने ओर भी कंपनीयों को बाज़ार में उतारने का मौका दिया है। एंड्राइड और विंडोज दो अलग अलग ऑपरेटिंग सिस्टम हैं जो की अलग अलग स्मार्ट फोन और टेबलेट में काम करते हैं।

    जैसा की हमे पता है पहला एंड्राइड 2007 में बना और इस पर चलने वाला फोन एचटीसी ड्रीम अक्टूबर 2008 में बिका था। जैसा की हमें पता है एंड्राइड एक ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर है इसलिए कोई भी निर्माता इस ऑपरेटिंग सिस्टम को अपने हिसाब से बदल सकता है अपनी सुविधा के अनुसार।

    यह निर्माताओं के लिए बड़ा ही आसान था क्योंकि इसकी वजह से अब वो खुद ही अपने आप सॉफ्टवेयर बना लेते हैं और अपनी सुविधा के अनुसार बदलाव कर लेते हैं। इसके ओपन सोर्स होने से उन्हे यह भी फायदा है की अब उन्हे किसी सॉफ्टवेयर कंपनी को इस काम के लिए रखना नहीं पड़ता।

    काफी कंपनीयों के साथ साथ गूगल ने भी अपने स्मार्ट फोन की सिरीज़ निकाली जिनको हम गूगल नेकसूस बोलते हैं। आजकल हर साल नए एंड्राइड के साथ गूगल का नया नेकसूस फोन निकलता है जो की गजब के एंड्राइड का अनुभव देता है।

    एंड्राइड में हमे प्ले स्टोर का ऑप्शन मिलता है जिससे हम मुफ्त एप्स और गेम्स डाउनलोड कर सकते हैं जो की सॉफ्टवेयर डेवलपर द्वारा बनाए हुए होते हैं। एंड्राइड इसलिए भी चर्चित है क्योंकि इसमे गूगल द्वारा मुफ्त अपडेटस हमें मिलते हैं।

    गूगल हर 6 से 9 महीने में अपनी नयी अपडेट देता है। विंडोज फोन आजकल कंपनी द्वारा बंद कर दिये गए हैं। पर यह भी काफी अच्छे से चले थे क्योंकि यह नोकिया कंपनी द्वारा निकले जा रहे थे पर आजकल इनको बनाना बंद कर दिया गया है।

    एंड्राइड और विंडोज में अंतर (difference between android and windows phone in hindi)

    एंड्राइडविंडोज
    कंपनीगूगलमाइक्रोसॉफ़्ट
    प्रोग्राम बाइजावा, सी, सी++सी, सी++
    ओएसयूनिक्सविंडोज
    पहली बारसितम्बर 2008अक्टूबर 2010
    युआईग्राफिकल(मल्टी टच)ग्राफिकल (मेट्रो युआई)
    सोर्सओपन सोर्सक्लोज्ड सोर्स
    अपडेटसकोई भी कंपनी इसके अपडेट बना सकती है।केवल माइक्रोसॉफ़्ट इसके अपडेट बनाती है।
    भाषासारी भाषासारी भाषा
    एप्स700,000 से ज्यादाकाफी कम और सीमित

     

    One thought on “एंड्राइड और विंडोज फोन में अंतर”

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *