दा इंडियन वायर » खेल » भारत न्यूजीलैंड: न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टी-20 में असफल रहे ऋषभ पंत के बचाव में आए सुनील गावस्कर
खेल

भारत न्यूजीलैंड: न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टी-20 में असफल रहे ऋषभ पंत के बचाव में आए सुनील गावस्कर

सुनील गावस्कर, ऋषभ पंत

पूर्व भारतीय कप्तान कप्तान सुनील गावस्कर ने न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टी-20 मैच में बाएं हाथ के बल्लेबाज ऋषभ पंत की असफलता के बाद उनका बचाव किया। पंत जो न्यूजीलैंड के खिलाफ एकदिवसीय सीरीज का हिस्सा नही थे, जहां भारत ने हाल में समाप्त हुई सीरीज को 4-1 से अपने नाम की थी। वेलिंग्टन में ओपनिंग टी-20 में बल्ले से खराब प्रदर्शन के लिए उन्हे कई आलोचनाए सुननी पड़ी। युवा विकेटकीपर खिलाड़ी इस मैच में कठोर नजर आ रहे थे लेकिन वह मिचेल सेंटनर की गेंद समझ नही पाए और क्लीन बोल्ड हो गए।

पंत इससे पहले ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज में टीम की तरफ से एक शानदार फार्म में नजर आए थे, जहां उन्होने कप्तान विराट कोहली को भी रनो के आकड़े में पीछे छोड़ा था और सीरीज में सबसे अधिक रन बनाने वालो की सूची में चेतेश्वर पुजारा के बाद दूसरे स्थान पर थे। विकेटकीपर बल्लेबाज को इस हफ्ते की शुरुआत में टीम में शामिल करने के बाद पहली टी-20 में प्लेइंग इलेवन में शामिल किया गया था। उन्हें दो अन्य स्टंपर्स एमएस धोनी और दिनेश कार्तिक के साथ मौका दिया गया था।

हालांकि, पंत इस मैच में बड़ा स्कोर करने में असफल रहे और उन्होने 10 गेंदो का सामना करके केवल 4 रन बनाए, जहां टीम को 220 रनो का पीछा करना था। गावस्कर दूसरों के विपरीत, पंत के प्रदर्शन के प्रति गंभीर नहीं थे और उन्होंने सुझाव दिया कि 21 वर्षीय अभी भी अपने आप को साबित करने और विश्व कप टीम में जगह बनाने के लिए पर्याप्त समय है। उन्होंने यह भी बताया कि टीम में शामिल होने के बाद एक बल्लेबाज के लिए यह आसान काम नहीं है की वह सीधे रन बना सके।

गावस्कर ने इंडिया टुडे से बात करते हुए कहा, ” “मुझे ऐसा नहीं लगता (अपने विश्व कप के अवसरों को बर्बाद करने के बारे में) भारत में पांच मैचों के साथ-साथ 50 ओवर के मैच और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी 20 आई मैच हैं, जहां ऋषभ प्रभाव डाल सकते हैं।”

गावस्कर ने आगे कहा,  “और वह सिर्फ न्यूजीलैंड पहुंचे। मेरा विश्वास करो, जब आप यात्रा कर चुके हैं तो सीधे स्कोर करना बहुत कठिन है। जेटलैग अभी भी शायद आसपास था। मैं युवा व्यक्ति के लिए बहाना बनाने की कोशिश नहीं कर रहा हूं, यह सिर्फ एक मैच है और कोई भी विफल हो सकता है। यह कोई बड़ी बात नहीं है।”

About the author

अंकुर पटवाल

अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!