शनिवार, दिसम्बर 14, 2019

टकराव के बाद आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल ने नोटबंदी पर प्रधानमंत्री मोदी का किया समर्थन

Must Read

शाओमी ने पेटेंट में मोटोरोला रेजर जैसा फोल्डेबल फोन दिखाया

चाइना की स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी शाओमी ने मोटो रेजर की तरह बीच से फोल्ड होने वाले एक स्मार्टफोन...

खराब सड़कों के लिए सिर्फ राज्य सरकार दोषी नहीं : केरल मंत्री जी. सुधाकरन

केरल के मंत्री जी. सुधाकरन ने कहा है कि सड़कों की खराब हालत से जुड़े मुद्दों पर राज्य सरकार...

रिफ्रेश होने के लिए ब्रेक पर गए सैम बिलिंग्स

दक्षिण अफ्रीका के साथ होने वाली वनडे सीरीज के लिए नजरअंदाज किए जाने के बाद इंग्लिश बल्लेबाज सैम बिलिंग्स...
आदर्श कुमार
आदर्श कुमार ने इंजीनियरिंग की पढाई की है। राजनीति में रूचि होने के कारण उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ कर पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखने का फैसला किया। उन्होंने कई वेबसाइट पर स्वतंत्र लेखक के रूप में काम किया है। द इन्डियन वायर पर वो राजनीति से जुड़े मुद्दों पर लिखते हैं।

रिजर्व बैंक ऑफ़ इण्डिया के गवर्नर उर्जित पटेल ने मंगलवार को संसदीय समिति के सामने नोटबंदी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बचाव किया और कहा कि इसके प्रभाव क्षणिक थे।

वरिष्ठ कांग्रेस नेता वीरप्पा मोइली के नेतृत्व में पैनल द्वारा पटेल से पूछताछ की गई। पैनल में पूर्व प्रधानमंत्री और अर्थशास्त्री मनमोहन सिंह भी शामिल थे।

कच्चे तेल की कम होती कीमतों पर उत्साह व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा, “अर्थव्यवस्था के लिए कम कीमतें बेहतर होंगी।” अन्य सभी सवालों पर आरबीआई प्रमुख को 10 दिनों के भीतर लिखित उत्तर देना होगा।

पैनल ने मुख्य रूप से दो विषयों पर सरकार के साथ आरबीआई के हालिया तनाव पर अपनी प्रतिक्रिया मांगी थी, क्या आरबीआई के पास इतनी अधिक पूंजी है कि उसे सरकार के साथ इसे साझा करना होगा। क्या सरकारी सुधर की प्रक्रिया आरबीआई के कारण लंबित होता है?

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने हाल ही में कहा था कि आरबीआई और वित्त मंत्रालय के रिश्ते कटुता के सबसे निचले स्तर तक पहुँच गए हैं। उन्होंने नोटबंदी की मुखर आलोचना की थी।

आरबीआई ने अपने वार्षिक रिपोर्ट में कहा था कि 15.3 लाख करोड़ रुपये की प्रतिबंधित मुद्रा बैंको में वापस आ गई थी जो बंद किये गए कुल नोटों का 99 फीसदी था।

31 सदस्यीय संसदीय कमिटी ने आरबीआई प्रमुख से बैंको के एनपीए की वर्तमान स्थिति के बारे में भी जानकारी मांगी।

कमिटी के सामने आरबीआई गवर्नर द्वारा विकास दर, मुद्रास्फीति पूर्वानुमान और इसकी वर्तमान सीमा के साथ-साथ अर्थव्यवस्था की स्थिति का विवरण बताने की भी उम्मीद है।

पटेल केंद्रीय बैंक प्रशासन में सुधारों के बारे में भी बात करेंगे जिसपर सरकार और बाहरी और स्वतंत्र निदेशकों ने बोर्ड में विचार किया था। सरकारी बैंकों के सुधारात्मक उपायों और इसके परिणाम, केंद्रीय बैंक रिजर्व पर वैश्विक मानदंड साझा करना और नोटबंदी पर अपना जवाब पैनल को सौंपेंगे।
संसदीय कमिटी नोटबंदी के दो साल बाद इस मुद्दे पर और इसके प्रभाव पर विचार विमर्श कर रही है।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

शाओमी ने पेटेंट में मोटोरोला रेजर जैसा फोल्डेबल फोन दिखाया

चाइना की स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी शाओमी ने मोटो रेजर की तरह बीच से फोल्ड होने वाले एक स्मार्टफोन...

खराब सड़कों के लिए सिर्फ राज्य सरकार दोषी नहीं : केरल मंत्री जी. सुधाकरन

केरल के मंत्री जी. सुधाकरन ने कहा है कि सड़कों की खराब हालत से जुड़े मुद्दों पर राज्य सरकार को दोषी ठहराना उचित नहीं...

रिफ्रेश होने के लिए ब्रेक पर गए सैम बिलिंग्स

दक्षिण अफ्रीका के साथ होने वाली वनडे सीरीज के लिए नजरअंदाज किए जाने के बाद इंग्लिश बल्लेबाज सैम बिलिंग्स रिफ्रेश होने के लिए ब्रेक...

अपने 50 फीसदी सामान खुद ही पहुंचा रही अमेजन

दिग्गज कंपनी अमेजन अब वैश्विक स्तर पर अपने स्वयं के 50 फीसदी पैकेजों को विशेष रूप से शहरी क्षेत्रों में खुद ही पहुंचा रहा...

अगले जेम्स बॉन्ड बन सकते हैं इद्रिस : ज्यूडी डेंच

अभिनेत्री ज्यूडी डेंच का मानना है कि 'कैट्स' के सह कलाकार इद्रिस एल्बा शायद अगले जेम्स बॉन्ड बन सकते हैं। 'द ग्राहम नोर्टन शो'...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -