Sat. Dec 10th, 2022
    'उरी' को 'प्रोपेगंडा फिल्म' बुलाये जाने पर निर्देशक आदित्य धर ने कहा-'मैं कुछ नहीं कर सकता'

    इस साल जब फिल्म ‘उरी:द सर्जिकल स्ट्राइक’ रिलीज़ हुई थी, तब भले ही फिल्म बॉक्स ऑफिस पर ब्लॉकबस्टर साबित हुई हो लेकिन फिर भी समाज का एक वर्ग ऐसा था जिन्होंने इस फिल्म को ‘प्रोपेगंडा फिल्म’ बुलाया।

    गोवा में चल रहे इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ़ इंडिया के 50वे संस्करण में रिपोर्टर से बात करते हुए, फिल्म के निर्देशक आदित्य धर ने कहा-“मैं यह दिखाना चाहता था कि कैसे एक काम के लिए सभी एक साथ आये, जिनमे सरकार और उसके विभाग शामिल हैं। वे एक बिंदु बनाना चाहते थे – हम चाहते हैं। हम इस बार चुप नहीं रहेंगे। हम अपने सैनिकों के साथ जो भी हो रहा है उसका जवाब देना चाहते हैं। अगर समाज के कुछ वर्ग को लगता है कि यह प्रोपेगंडा है, तो मैं इसके बारे में कुछ नहीं कर सकता।”

    https://www.instagram.com/p/B49NTcypAC5/?utm_source=ig_web_copy_link

    “मैं इस पर ही अटक गया। अगर मैं यह कहानी नहीं कहता, तो कोई और जरूर कह देता। सरकार के योगदान को नकारना असंभव है।”

    फिल्म निर्माता जिनकी फिल्म ने तीन राष्ट्रीय पुरस्कार जीते, ने टिप्पणी की कि ‘उरी’ एक कालानुक्रमिक फिल्म थी, जो 10 दिनों में फैली थी, और यह उतनी ही वास्तविक थी जितनी कि फिल्म बनाने की तकनीक अनुमति दे सकती है। उनके मुताबिक, “मैं आपको वास्तविकता बता रहा हूं कि असल में क्या हुआ। समाज के कुछ वर्गों के साथ इमानदार होने के वजाय, एक फिल्म निर्माता के रूप में मुझे अपने शिल्प के साथ इमानदार होना था। मैं अपनी हिम्मत पर अटक गया। यह वह कहानी थी जो वास्तव में हुई थी।”

    https://www.instagram.com/p/BycApBFJmts/?utm_source=ig_web_copy_link

    “ऐसी इसे नियोजित किया गया था। बिना एक डाक्यूमेंट्री बनाये, मैं इसके इतना ही करीब जा सकता था।”

    इस दौरान, फिल्म में विक्की कौशल ने मुख्य किरदार निभाया था जिसके लिए उन्हें बतौर बेस्ट एक्टर राष्ट्रिय पुरुस्कार मिला। इसके बाद, ये अभिनेता-निर्देशक की जोड़ी अपनी अगली फिल्म पर काम कर रही है जो पौराणिक चरित्र अश्वत्थामा पर आधारित है।

     

    By साक्षी बंसल

    पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *