दा इंडियन वायर » भूगोल » उत्तर भारत में शीत लहर का प्रकोप
भूगोल समाचार

उत्तर भारत में शीत लहर का प्रकोप

उत्तर प्रदेश समेत देश के अन्य राज्यों में बढ़ती ठंड ने जनजीवन अस्त व्यस्त कर दिया है। पिछले कई दिनों से धुंध व कोहरे की चादर छाई हुई है। उत्तर प्रदेश में कड़ाके की ठंड के चलते मौसम विभाग ने येलो अलर्ट जारी कर दिया है। अनुमान है कि यह मौसम 14 जनवरी तक लगभग ऐसा ही रहने वाला है। प्रदेश में बर्फीली हवाएं चल रही है जिससे ठिठुरन बनी हुई है।

वहीं धूप के ना आने से भी राहत नहीं मिल रही है। सुबह से लेकर शाम तक धुंध की मोटी चादर बिछी रहती है। इसके कारण लोगों को यातायात में भी समस्या आ रही है। पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी के कारण मैदानी इलाकों के मौसम का मिजाज बदला है। मौसम विभाग का कहना है कि बर्फबारी के चलते यह निश्चित कर पाना मुश्किल है कि कब तक ऐसा ही मौसम बना रहेगा।

साथ ही अनुमान है कि अगले तीन-चार दिन तक देश के कई राज्यों जैसे पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, चंडीगढ़ आदि में शीतलहर और ठंड की संभावना है। कड़ाके की सर्दी से लोगों का बुरा हाल है। सुबह और रात दोनों वक्त ही सर्दी बहुत ज्यादा हो रही है। तापमान में काफी गिरावट देखने को मिल रही है। लगभग पूरा उत्तर भारत बर्फीली हवाओं की चपेट में है।

माना जा रहा है मकर संक्रांति तक शीतलहर और बर्फीली हवाओं से छुटकारा नहीं मिलेगा। मौसम विभाग का अनुमान है कि प्रदेश में 14 जनवरी तक 5 डिग्री के आसपास तापमान रह सकता है। बीते दिन देश की राजधानी दिल्ली का न्यूनतम पारा 7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। इसमें और गिरावट हो सकती है। इस वजह से मैदानी इलाकों के लोगों को तो परेशानी हो ही रही है साथ ही पहाड़ों पर होने वाली बर्फबारी से भी लोगों को अच्छी-खासी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है।

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!