शुक्रवार, जनवरी 17, 2020

उत्तर प्रदेश में दो और बलात्कार, औरेया में चलती कार में किया रेप, बिजनौर में नाबालिग के साथ दुष्कर्म

Must Read

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को दिए निर्देश, संविधान को पाठ्यक्रम में शामिल करने पर 3 महीने में ले फैसला

देश के प्रत्येक तहसील में एक केंद्रीय विद्यालय खोलने और प्राइमरी स्कूल के पाठ्यक्रम में भारतीय संविधान को शामिल...

पाकिस्तान : कट्टरपंथी संगठन के 86 सदस्यों को आतंकवादी रोधी अदालत ने सुनाई 55-55 साल कैद की सजा

पाकिस्तान के रावलपिंडी में एक आतंकवाद रोधी अदालत ने कट्टरपंथी संगठन तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान (टीएलपी) के 86 सदस्यों व समर्थकों...

राजकोट वनडे : भारतीय बल्लेबाजों की दमदार वापसी, आस्ट्रेलिया को दिया 341 रनों का लक्ष्य

मुंबई में मिली बुरी हार से आहत भारतीय बल्लेबाजों ने शुक्रवार को यहां सौराष्ट्र क्रिकेट संघ स्टेडियम में खेले...

उत्तर प्रदेश में दुष्कर्म जैसे जघन्य अपराध को लेकर एक ओर जहां जनता में आक्रोश है, वहीं राज्य में ऐसे मामलों को लेकर शिकायतों में कमी नहीं आ रही है। उत्तर प्रदेश के औरैया में जहां 18 वर्षीय युवती से कथित तौर पर अगवा कर चलती एसयूवी में सामूहिक दुष्कर्म करने की घटना सामने आई है, वहीं बिजनौर जिले में एक युवक द्वारा 14 वर्षीय किशोरी से दुष्कर्म करने की जानकारी सामने आई है।

पहली घटना 29 नवंबर की है, लेकिन आश्चर्यजनक बात यह है कि मामले में शिकायत सात दिसंबर को तब दर्ज की गई, जब पीड़िता के पिता ने वरिष्ठ अधिकारियों से पुलिस द्वारा बरती जा रही लापरवाही की शिकायत की।

पीड़िता ने एफआईआर में सेना के जवान और उसके भाई सहित चार लोगों के नाम दर्ज कराए हैं।

एफआईआर में सामूहिक दुष्कर्म, आपराधिक धमकी, सेना के जवान, उसके भाई और दो अन्य के खिलाफ लूट के तहत मामला दर्ज किया गया है।

शिकायत के अनुसार, 29 नवंबर को युवती अपने दोपहिया वाहन से कोचिंग इंस्टीट्यूट जा रही थी, इसी दौरान एसयूवी सवार लोगों ने उसका अपहरण कर लिया। युवती ने आरोप लगाया कि उन लोगों ने चलती गाड़ी में दो घंटे तक उसका दुष्कर्म किया और बाद में उसे फेंक कर चले गए।

वहीं आरोपियों ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराने पर जान से मारने की धमकी भी दी।

पीड़िता ने जैसे तैसे घर पहुंच कर परिजनों को घटना के बारे में बताया।

उसके पिता ने बताया कि बेटी की सुरक्षा के कारण उन्होंने पुलिस में तत्काल रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई।

पिता ने कहा, “हालांकि परिवार वालों के दबाव के कारण एक दिसंबर को मैं महिला थाने में एफआईआर दर्ज कराने पहुंचा, लेकिन महिला पुलिसकर्मियों ने उन्हें भगा दिया। उसके बाद अगले दिन मैं एसएचओ से मिलने पहुंचा, लेकिन उन्होंने भी कोई संज्ञान नहीं लिया।”

इसके बाद पीड़िता के पिता ने एसपी से मुलाकात की, जिन्होंने पीड़िता को मेडिकल परीक्षण के लिए भेजा। हालांकि मेडिकल रिपोर्ट में यौन उत्पीड़न होने की पुष्टि नहीं हुई, लेकिन पीड़िता के शरीर पर जख्म के निशान पाए गए।

पुलिस अधिकारी ने बताया, “हमने मुख्य संदिग्ध व सेना के जवान के ठिकाने का पता कर लिया है, जो इलाहाबाद में है, उससे पूछताछ करने के लिए टीम गठित की गई है।”

वहीं दूसरी घटना 14 वर्षीय एक किशोरी के साथ पड़ोसी द्वारा दुष्कर्म किए जाने की है। घटना शनिवार की है।

बिजनौर जिले के पृथ्वीपुर गांव के निवासी व आरोपी शैंकी सिंह के खिलाफ पुलिस ने आईपीसी की धारा 376 और पोक्सो एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज कर लिया गया है और पीड़ित किशोरी का रविवार को मेडिकल परीक्षण कराया जा चुका है।

वहीं किशोरी के चाचा पर भी आरोपी की मदद करने को लेकर मामला दर्ज किया गया है।

दरअसल किशोरी के चाचा ने उसे स्कूल ले जाने के लिए अपनी बाइक पर बिठाया था और बाद में आरोपी से कहा था कि वे किशोरी को स्कूल तक ले जाए।

दोनों आरोपियों की अभी तक गिरफ्तारी नहीं हुई है।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को दिए निर्देश, संविधान को पाठ्यक्रम में शामिल करने पर 3 महीने में ले फैसला

देश के प्रत्येक तहसील में एक केंद्रीय विद्यालय खोलने और प्राइमरी स्कूल के पाठ्यक्रम में भारतीय संविधान को शामिल...

पाकिस्तान : कट्टरपंथी संगठन के 86 सदस्यों को आतंकवादी रोधी अदालत ने सुनाई 55-55 साल कैद की सजा

पाकिस्तान के रावलपिंडी में एक आतंकवाद रोधी अदालत ने कट्टरपंथी संगठन तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान (टीएलपी) के 86 सदस्यों व समर्थकों को कुल मिलाकर 4738 साल...

राजकोट वनडे : भारतीय बल्लेबाजों की दमदार वापसी, आस्ट्रेलिया को दिया 341 रनों का लक्ष्य

मुंबई में मिली बुरी हार से आहत भारतीय बल्लेबाजों ने शुक्रवार को यहां सौराष्ट्र क्रिकेट संघ स्टेडियम में खेले जा रहे दूसरे वनडे मैच...

छत्तीसगढ़ : बस्तर में कुपोषण के खिलाफ ‘गुड़’ को हथियार बनाएगी भूपेश सरकार

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल कुपोषण को नक्सलवाद से बड़ी चुनौती मानते हैं और यही कारण है कि इसके खात्मे के लिए कई अभियान...

सुप्रीम कोेर्ट ने महात्मा गांधी को भारत रत्न दिए जाने की याचिका खारिज की

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को महात्मा गांधी को भारतरत्न से सम्मानित करने की मांग वाली जनहित याचिका पर केंद्र को कोई भी निर्देश जारी...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -