उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के टीकाकरण अभियान को सभी वर्ग के लिए अब चरणबद्ध तरीके से विस्तार मिलेगा। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कोविड संक्रमण पर काबू पाने के लिए 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के कोरोना टीकाकरण अभियान को सोमवार से प्रदेश के 11 और जिलों में शुरू करने का निर्देश दिया है।इनमें आगरा, अलीगढ़, अयोध्या, फीरोजाबाद, गाजियाबाद, झांसी, मथुरा, मुरादाबाद, सहारनपुर, शाहजहांपुर और गौतम बुद्ध नगर शामिल हैं।

योगी सरकार की ओर से टीकाकरण को तेज गति प्रदान करने से कोरोना के खिलाफ लड़ाई को जीतना काफी आसान हो जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर 18 जिलों में सोमवार स शुरू होने वाले टीकाकरण के लिए 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों के लिए अस्पतालों में अलग बूथ बनाए जा रहे हैं। वर्तमान में प्रदेश में करीब 07 हजार बूथों पर टीकाकरण चल रहा है। 18 महानगरों में कोविड टीकाकरण शुरू होने के बाद बूथों की संख्या भी काफी बढ़ जाएगी। गौरतलब है कि योगी सरकार ने एक मई से प्रदेश के अधिक संक्रमण वाले सात जिलों में 18 से 44 वर्ष के लोगों के लिए टीकाकरण शुरू किया था। पहले चरण में लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज, वाराणसी, गोरखपुर और मेरठ में टीकाकरण शुरू किया गया था।

टीकाकरण के लिए ऑनलाइन पंजीकरण कराना होगा

टीकाकरण में शामिल जनपदों के युवाओं को ऑनलाइन पंजीकरण कराना होगा। ऑनलाइन पंजीकरण के दौरान युवाओं को टीकाकरण के लिए मनपसंद स्लॉट व अस्पताल चुनने का विकल्प भी दिया जाएगा। युवाओं में योगी सरकार की ओर से शुरू किए गए टीकाकरण अभियान को लेकर काफी उत्साह है। उनकी ओर से बराबर ऑनलाइन पंजीकरण कराया जा रहा है। कोरोना के खिलाफ शुरू हुए महायुद्ध में टीकाकरण सुरक्षा कवच की तरह काम कर रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि टीकाकरण केंद्रों पर कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से अनुपालन हो। ऑन-द-स्पॉट पंजीयन से अव्यवस्था हो सकती है। अनावश्यक भीड़ न हो, इसके लिए ऑनलाइन पंजीयन व्यवस्था को ही लागू रखना उचित होगा। जिनकी बारी है उनसे यथासंभव एक-दो दिन पूर्व फोन से संपर्क कर लिया जाना उचित होगा। संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए गांव-गांव टेस्टिंग का महा अभियान चल रहा है। लोग इसमें सहयोग कर रहे हैं। निगरानी समितियां घर-घर जाएं, स्क्रीनिंग करें, होम आइसोलेशन के मरीजों को मेडिकल किट उपलब्ध कराएं। लक्षणयुक्त लोगों के बारे में आरआरटी को सूचना देकर उनका एंटीजन टेस्ट कराया जाए। डीएम और सीएमओ यह सुनिश्चित करें कि टेस्ट की यह प्रक्रिया गांव में ही हो। सीएचसी/पीएचसी पर जाने की कोई अवश्यकता नहीं है। आरआरटी की संख्या में तीन से चार गुना बढ़ोतरी के लिए विशेष प्रयास किए जाएं। कांटेक्ट ट्रेसिंग और बेहतर करने की जरूरत है।

टीकाकरण में 18 और 45 से ऊपर लोगों को डोज देने में यूपी पहले स्थान पर

योगी सरकार की ओर से चलाए जा रही वृहद टीकाकरण अभियान में अभी तक 45 आयु वर्ग के ऊपर वालों को सर्वाधिक डोज देने में उत्तर प्रदेश ने रिकॉर्ड बना लिया है। अन्य प्रदेशों के मुकाबले उत्तर प्रदेश में टीकाकरण अभियान के दौरान 45 साल के ऊपर वाले लोगों को कुल कुल 1,34,20,100 डोज लगाई गई। जिसमें 1,07,65,528 लोगों को पहली डोज और 26,64, 652 लोगों को दूसरी डोज शामिल है। इतना ही नहीं 18 साल से ऊपर के युवाओं को भी गुरुवार तक 85,566 वैक्सीन की डोज देने में उत्तर प्रदेश ने अन्य प्रदेशों को काफी पीछे छोड़ दिया है।


दिल्ली विश्वविद्यालय से इतिहास का छात्र। खासतौर पर इतिहास, साहित्य और राजनीति में रुचि।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *