Tue. Apr 23rd, 2024
    यौन शोषण

    लखनऊ, 9 जुलाई (आईएएनएस)| उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में 13 और 11 साल की उम्र के दो नाबालिग लड़कों ने स्कूल नहीं जाने पर माता-पिता से सजा मिलने के डर से अपहरण की झूठी कहानी रची। लखनऊ के सआदतगंज इलाके में रहने वाले लड़के सोमवार को स्कूल के लिए घर से निकले थे और बाद में मनगढ़ंत कहानी के साथ लौटे।

    उन्होंने अपने माता-पिता को बताया कि वे सुबह 7.30 बजे जब स्कूल जा रहे थे, तभी कार में सवार एक शख्स ने उन्हें बुलाया।

    लड़कों ने कहा, “उस आदमी ने हमें कार के अंदर खींच लिया जिसमें पांच अन्य लोग सवार थे, उन लोगों ने हमारी आंखों पर पट्टी बांध दी। ठाकुरगंज के पास, हम कार के शीशे को बोतल से तोड़ने में सफल रहे और मदद के लिए चिल्लाएं। चूंकि ट्रैफिक के कारण कार धीमी हो गई थी, इसलिए हम वहां से निकलने में कामयाब हो गए।”

    घबराए माता-पिता ने पुलिस को सूचित किया, जिसने अपहरणकर्ताओं पता लगाने के लिए टीमें गठित की।

    सआदतगंज के एसचओ महेश पाल सिंह, ने कहा, “सच तब सामने आया जब हमने इलाके के सीसीटीवी फुटेज को खंगाला। हमने न लड़कों को देखा और न ही कार को। जब आगे पूछताछ की गई, तो लड़कों ने कबूल किया कि उन्होंने मनगढ़ंत कहानी बनाई थी क्योंकि उन्होंने अपना होमवर्क नहीं किया था और स्कूल के लिए भी देर हो चुकी थी।”

    एसएचओ ने कहा कि लड़कों को भविष्य में ऐसे कृत्य नहीं करने के लिए सलाह दी गई है।

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *