Wed. Oct 5th, 2022
    शिंजो आबे

    उत्तर कोरिया ने बुधवार को अज्ञात प्रोजेक्टाइल को पूर्वी बंदरगाह से दागा था। रायटर्स के मुताबिक, जापान के प्रधानमन्त्री शिंजो आबे ने दावा किया कि इससे उनकी राष्ट्रीय सुरक्षा पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। टोक्यों क्षेत्र के हालातो के बाबत अपने सहयोगियों के साथ संपर्क में हैं।

    उत्तर कोरिया का मिसाइल लांच

    टोक्यो में पत्रकारों को संबोधित करते हुए आबे ने कहा कि “हम अमेरिका और नयो अन्यो के साथ करीबी से सहयोग करना जारी रखेंगे। उत्तर कोरिया ने बुधवार को अज्ञात प्रोजेक्टाइल को लांच किया था। रिपोर्ट के मुताबिक, राष्ट्र के पूर्वी बंदरगाह में स्थित दक्षिणी हम्गयोंग प्रान्त से मिसाइल को दागा गया था।

    उत्तर कोरिया द्वारा दागे गयी मिसाइल की रिपोर्ट्स से अमेरिका अच्छी तरह से वाकिफ है। अमेरिका के राज्य विभाग ने कहा कि वह हालातो पर निगरानी रखेंगे।” अमेरिका के राज्य विभाग के प्रवक्ता ने दक्षिण कोरियाई न्यूज़ एजेंसी से कहा कि “हम उत्तर कोरिया से मिसाइल को दागने की खबर से वाकिफ है और स्थितियों पर निगरानी रखेंगे।”

    सीओल के राष्ट्रपति दफ्तर में राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद् की आपातकाल बैठक जारी है ताकि उत्तर कोरिया द्वारा हालिया मिसाइल लांच पर चर्चा की जा सके। साथ ही कोरियाई प्रायद्वीप के मौजूदा हालात पर चर्चा की जा सके।

    दक्षिण कोरिया के जॉइंट चीफ ऑफ़ स्टाफ के हवाले से योन्हाप न्यूज़ एजेंसी ने कहा कि “वह हालातों पर निगाहें बनाये हुए हैं, अगर अत्यधिक फायरिंग होती है तो हमारी योजना तैयार है।” अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने इस वारदात को कमतर आंका और कहा कि यह निम्न दर्जे की मिसाइल थे जो कई राष्ट्रों के समक्ष मौजूद है।

    उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के साथ कोरियाई देशों को विभाजित करने वाली सीमा पर मुलाकात की थी। साथ ही परमाणु निरास्न्त्रिकरण पर वार्ता के लिए एक और सम्मेलन का आयोजन करने पर रजामंदी जाहिर की थी।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.