शनिवार, फ़रवरी 29, 2020

उत्तर कोरिया: वार्ता बहाल करने के लिए अमेरिका सही रणनीति का चयन करें, बर्दाश्त की एक हद होती है

Must Read

दिल्ली हिंसा पर मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल: “पुलिस स्थिति संभालने में विफल, सेना को बुलाया जाए”

दिल्ली (Delhi) के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने आज सुबह कहा कि राष्ट्रीय राजधानी के उत्तरपूर्वी हिस्से में...

आयुष्मान खुराना: “मैं एक प्रशिक्षित गायक हूं क्योंकि मैं एक ट्रेन में गाता था”

आयुष्मान खुराना (Ayushmann Khurrana) ने खुलासा किया है कि उन्होंने अपने बॉलीवुड डेब्यू के लिए सही प्रोजेक्ट लेने के...

जाफराबाद में एंटी-सीएए प्रदर्शनकारियों ने सड़क जाम किया, DMRC ने मेट्रो स्टेशन को किया बंद

केंद्र की ओर से जारी नागरिकता (संशोधन) अधिनियम (CAA) को रद्द करने की मांग करते हुए 500 से अधिक...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच हनोई सम्मेलन को खत्म हुए चार महीने होने जा रहे है और उसी दौरान से दोनों मुल्कों के बीच बातचीत की प्रक्रिया ठप पड़ी हुई है। उत्तर कोरिया ने प्रतिबंधों को लेकर एक दफा और अमेरिका को आड़े हाथो लिया है।

प्योंगयांग ने कोरियाई सेंट्रल न्यूज़ एजेंसी के हवाले से बुधवार को कहा कि “अमेरिका वार्ता के लिए जल्द सही रणनीतिक प्रक्रिया अमल में लाये, वरना हमारा धैर्य जवाब दे देगा। उत्तर कोरिया के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि “अमेरिका को अपने मूल्याङ्कन के तरीके को तब्दील करना चाहिए ताकि पिछले साल जून हुई मुलाकात के समझौते को हम बरक़रार रख सके।”

उन्होंने कहा कि ” अमेरिका को बीते एक वर्ष में हमारे रिश्तो में आये परिवर्तन की तरफ गौर करना चाहिए और जितनी जल्दी हो सके अपनी नीतियों पर निर्णय लेना चाहिए नहीं टी बहुत देर हो जाएगी, बर्दाश्त की भी एक हद होती है।”

उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने अप्रैल में कहा था कि ” वह अमेरिका के साहसिक निर्णय का इस वर्ष के अंत तक इन्तजार करेंगे।” डोनाल्ड ट्रम्प और किम  जोंग उन की पहली मुलाकात सिंगापुर के द्वीप में हुई थी जहां दोनों नेताओं  निरस्त्रीकरण के प्रति प्रतिबद्धता दिखाई थी।

वियतनाम सम्मेलन के बाद दोनों देश प्रतिबन्धों से रिआयत के मतभेदों को सुलझाने में असफल रहे थे। इसके बाद उत्तर कोरिया ने मिसाइल का परिक्षण किया था। हाल ही में अमेरिका ने उत्तर कोरिया के एक मालवाहक जहाज को जब्त कर लिया था इसके बाद दोनों के बीच तनाव काफी बढ़ गया था।

अमेरिका के कार्यकारी रक्षा सचिव पैतृक षानहन ने कहा था कि “उत्तर ने हथियारों का परिक्षण कर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के विशेषाधिकारों का उल्लंघन किया है।” बैलिस्टिक मिसाइल के परिक्षण के कारण देश पर प्रतिबन्ध लागू किये गए थे।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

दिल्ली हिंसा पर मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल: “पुलिस स्थिति संभालने में विफल, सेना को बुलाया जाए”

दिल्ली (Delhi) के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने आज सुबह कहा कि राष्ट्रीय राजधानी के उत्तरपूर्वी हिस्से में...

आयुष्मान खुराना: “मैं एक प्रशिक्षित गायक हूं क्योंकि मैं एक ट्रेन में गाता था”

आयुष्मान खुराना (Ayushmann Khurrana) ने खुलासा किया है कि उन्होंने अपने बॉलीवुड डेब्यू के लिए सही प्रोजेक्ट लेने के लिए 5-6 फिल्मों को अस्वीकार...

जाफराबाद में एंटी-सीएए प्रदर्शनकारियों ने सड़क जाम किया, DMRC ने मेट्रो स्टेशन को किया बंद

केंद्र की ओर से जारी नागरिकता (संशोधन) अधिनियम (CAA) को रद्द करने की मांग करते हुए 500 से अधिक लोगों, ज्यादातर महिलाओं ने शनिवार...

‘हैदराबाद में शाहीन बाग जैसे विरोध प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी जाएगी’: पुलिस आयुक्त

हैदराबाद के पुलिस आयुक्त अंजनी कुमार ने शनिवार को कहा कि शहर में "शाहीन बाग़ जैसा" विरोध प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी जाएगी। उनका...

निर्भया मामला: आरोपी विनय नें खुद को चोट पहुंचाने की की कोशिश, इलाज के लिए माँगा समय

2012 में दिल्ली में हुए निर्भया मामले (Nirbhaya Case) में चार आरोपियों में से एक विनय नें आज जेल की दिवार से खुद को...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -