Mon. Sep 25th, 2023
    उत्तर कोरिया के नेता

    उत्तर कोरिया के सभी जन विध्वंशक कार्यक्रम के हथियारों ने संयुक्त सुरक्षा परिषद् के नियमों का उल्लंघन किया हैं। अमेरिका के रक्षा विभाग की प्रवक्ता ने उत्तर कोरिया के हालिया मिसाइल परिक्षण के बाबत सवाल पूछने पर यह जवाब दिया था।

    परमाणु निरस्त्रीकरण बातचीत

    प्रवक्ता मॉर्गन ओरटागुस ने कहा कि “मेरे ख्याल से समूचे उत्तर कोरिया के डब्ल्यूएमडी कार्यक्रम का यूएन के सुरक्षा परिषद् के विशेषाधिकारों का उल्लंघन है। लेकिन अमेरिका का यहां फोकस उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम को शांतिपूर्ण तरीके से खत्म करने के लिए बातचीत करने की कोशिश है।”

    हाल ही में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन से उलट बयान दिया था। बोल्टन ने शनिवार को कहा था कि “निसंदेह, प्योंगयांग के हालिया परिक्षण ने यूएन के नियमों का उल्लंघन किया है क्योंकि यह शार्ट रेंज बैलिस्टिक मिसाइल का परिक्षण है।”

    ओरटागुस ने कहा कि “बैलिस्टिक मिसाइल के परिक्षण पर राज्य विभाग का अपने मूल्याङ्कन को सार्वजानिक तौर पर साझा करना अभी शेष है।” पेंटागन ने कहा कि उत्तर कोरिया ने 9 मई को कई बैलिस्टिक मिसाइलो का परिक्षण किया था जिन्होंने 300 किलोमीटर तक उड़ान भरी थी।

    राष्ट्रपति और रक्षा सलाहकार की असहमति

    सोमवार को जापानी यात्रा के दौरान डोनाल्ड ट्रम्प ने जॉन बोल्टन के बयान से उलट बयान दिया और खुद को असहमत बताया था। उन्हने कहा कि “मेरे लोग सोचते हैं कि यह यूएन के नियम का उल्लंघन है। इसपर मेरा नजरिया अलग है। उत्तर कोरिया का नेता किम जोंग उन ध्यान आकर्षित करना चाहता था।”

    डोनाल्ड ट्रम्प ने जोर देते हुए कहा कि “कोई परमाणु परिक्षण नहीं, न ही बैलिस्टिक मिसाइल बाहर गयी और न लॉन्ग रेंज मिसाइल का परिक्षण किया था। एक दिन उत्तर कोरिया के साथ परमाणु कार्यक्रम करने के लिए समझौता हो सकता है।”  प्रवक्ता ने कहा कि “मुझे नहीं लगता इससे हमारा कोई नुकसान हुआ है और वह परिक्षण प्रशासन को एक सन्देश देने की कोशिश थी।”

    उन्होंने कहा कि “उत्तर कोरिया के साथ अमेरिका परमाणु निरस्त्रीकरण की वार्ता करना चाहता है। यहां हमारा वही फोकस है।” अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच दो विफल मुलाकातों के बाद किम जोंग उन के नेतृत्व में कई रॉकेटस और मिसाइल को दागा गया था। इसमें कई निर्देशित मिसाइले भी थी जो क्षेत्र में अमेरिका और दक्षिण कोरिया की रक्षा चक्र के भीतर प्रवेश कर सकती है।

    उत्तर कोरिया ने सोमवार को जारी बयान में जॉन बोल्टन को अत्याधिक घमंडी करार दिया था और कहा कि “मिसाइल परिक्षण को त्यागना अपने आत्मरक्षा के अधिकारों को त्यागने के बराबर होगा।”

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *