Mon. Apr 15th, 2024

नई दिल्ली, 5 जुलाई (आईएएनएस)| केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रमुख योजनाओं, उज्जवला और सौभाग्य योजना ने ग्रामीण परिवारों का जीवन बदल दिया है।

शुक्रवार को यहां लोकसभा में बजट पेश करते हुए सीतारमण ने कहा, “महात्मा गांधी ने कहा था, ‘भारत की आत्मा इसके गावों में रहती है।’ इस वर्ष, जब हम महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मना रहे हैं, मैं कहना चाहती हूं कि हमारी सरकार अंत्योदय को अपने हर प्रयास के केंद्र में रखती है।”

उन्होंने कहा, “हम जो कुछ भी करते हैं, उसके केंद्र में हम ‘गांव, गरीब और किसान’ को रखते हैं।”

उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री की दो प्रमुख योजनाएं, उज्जवला योजना और सौभाग्य योजना ने प्रत्येक ग्रामीण परिवार का जीवन बदल दिया है और उनके जीवन स्तर में व्यापक रूप से सुधार किया है।”

उन्होंने कहा कि खाना बनाने वाली गैस के घरों तक पहुंचने में व्यापक प्रसार हुआ है। इस दौरान घरेलू गैस के सात करोड़ से ज्यादा कनेक्शन हुए हैं।

उन्होंने कहा, “देश भर में सभी गांव और लगभग सभी घरों तक बिजली पहुंच गई है। कुशल कार्यान्वयन और ग्रामीणों के उत्साह के संयोजन से ग्रामीण घरों में बिजली की पहुंच में उल्लेखनीय सुधार हुआ है।”

उन्होंने कहा, “मैं देश को आश्वस्त करना चाहूंगी कि साल 2022 में भारत की आजादी के 75वें वर्ष में, हर ग्रामीण परिवार को बिजली और रसोई गैस कनेक्शन दे दिया जाएगा सिवाय उनके जो इन्हें लेने में अनिच्छा जताएंगे।”

By पंकज सिंह चौहान

पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *