सोमवार, दिसम्बर 9, 2019

चीन में उइगर समुदाय पर हो रहे अत्याचार की पाकिस्तान ने ली सुध

Must Read

झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 : तीसरे चरण का मतदान तय करेगा आजसू का राजनीतिक भविष्य

झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए दो चरण का मतदान संपन्न हो जाने के बाद सभी दल तीसरे चरण में...

उत्तर प्रदेश में दो और बलात्कार, औरेया में चलती कार में किया रेप, बिजनौर में नाबालिग के साथ दुष्कर्म

उत्तर प्रदेश में दुष्कर्म जैसे जघन्य अपराध को लेकर एक ओर जहां जनता में आक्रोश है, वहीं राज्य में...

रणजी ट्रॉफी : सांप के कारण विदर्भ और आंध्र प्रदेश के बीच मैच में हुई देरी

यहां विदर्भ और आंध्र प्रदेश के बीच खेला जा रहा रणजी ट्रॉफी के ग्रुप-ए का मैच सांप के कारण...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

चीन की तानाशाही और दमनकारी नीति का जुल्म सह रहे उइगर मुस्लिम अल्पसंख्यकों की आखिरकार पाकिस्तान ने सुध ले ली है।

दक्षिणपंथी समूहों की चेतावनी के बाद इस्लामाबाद ने चीन से आग्रह किया है कि वह उइगर समुदाय प्रताड़ित न करे। चीन में उइगर मुस्लिम समुदाय को इस वक़्त कैंप में नज़रबंद रखा गया है और यह समुदाय धार्मिक गतिविधियों पर कड़े प्रतिबन्ध कि मार झेल रहा है।

पाकिस्तान और चीन के मध्य दोस्ताना रिश्तें कायम है ऐसे में यह अपील अधिक सार्थक है। पाकिस्तान के मंत्री इस हफ्ते चीनी प्रतिनिधि से मुलाकात के वक़्त शिनजियांग प्रान्त में उइगर मुस्लिमों के साथ हो रहे र्दुव्यवहार पर चर्चा करेंगे।

मानवाधिकार निगरानी समिति ने कहा कि उइगर मुस्लिम और अन्य तुर्की समुदाय पर अत्याचार की शुरुआत साल 2017 में ही हो गयी थी।

मानवाधिकार समिति की इस वर्ष जारी रिपोर्ट ने शिनजियांग प्रान्त के अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों को कैदी बनाकर रखना, उन पर अत्याचार और दुर्व्यवहार की पुष्टि की है।

इस रिपोर्ट के मुताबिक राजनैतिक शिक्षा कैंप में इस समुदाय के लगभग 10 लाख लोगों को नज़रबंद कर रखा गया है। इस रिपोर्ट में सूचना जानने और कबूल करवाने के लिए इस अल्पसंख्यक समुदाय को बुरी तरह प्रताड़ित किया जाता है।

मानवाधिकार समिति ने बताया कि उइगर मुस्लिमों की निजी जानकारी हासिल करने के लिए सरकार ने उनके घरों के बाहर क्यूआर कोड लगा रखे हैं।
विशेषज्ञों के अनुसार पाकिस्तान का यह कदम मानव अधिकार के उल्लंघन करने से रोकने के लिए चीन पर दबाव बनाना है।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 : तीसरे चरण का मतदान तय करेगा आजसू का राजनीतिक भविष्य

झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए दो चरण का मतदान संपन्न हो जाने के बाद सभी दल तीसरे चरण में...

उत्तर प्रदेश में दो और बलात्कार, औरेया में चलती कार में किया रेप, बिजनौर में नाबालिग के साथ दुष्कर्म

उत्तर प्रदेश में दुष्कर्म जैसे जघन्य अपराध को लेकर एक ओर जहां जनता में आक्रोश है, वहीं राज्य में ऐसे मामलों को लेकर शिकायतों...

रणजी ट्रॉफी : सांप के कारण विदर्भ और आंध्र प्रदेश के बीच मैच में हुई देरी

यहां विदर्भ और आंध्र प्रदेश के बीच खेला जा रहा रणजी ट्रॉफी के ग्रुप-ए का मैच सांप के कारण देरी से शुरू हुआ। मैच...

पीएम मोदी व कांग्रेस नेताओं ने कांग्रेस अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को दीं जन्मदिन की शुभकामनाएं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को उनके 73वें जन्मदिन की शुभकामनाएं दी। मोदी ने ट्वीट किया, "श्रीमती सोनिया गांधी...

संसद शीतकालीन सत्र : राज्यसभा ने दिल्ली अग्निकांड पर शोक जताया

राज्यसभा ने सोमवार को दिल्ली के रानी झांसी मार्ग इलाके में भयानक आग की चपेट में आकर 43 मजदूरों के मारे जाने पर शोक...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -