होम विदेश ईरान में हुए आतंकी हमले पर पाकिस्तान ने दिया सहयोग का प्रस्ताव

ईरान में हुए आतंकी हमले पर पाकिस्तान ने दिया सहयोग का प्रस्ताव

0
ईरान में हुए आतंकी हमले पर पाकिस्तान ने दिया सहयोग का प्रस्ताव

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने रविवार को ईरान के सैनिकों के काफिले पर हुए आतंकी हमले की जांच में सहयोग का प्रस्ताव दिया है। डॉन की खबर के मुताबिक पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने ईरानी विदेश मंत्री जावेद ज़रीफ़ से फोन पर बातचीत की थी। इस दौरान उन्होंने ईरान को मदद का प्रस्ताव दिया था।

डॉन के मुताबिक ईरान की वाजिब चिंताओं पर चर्चा के लिए पाकिस्तान का एक प्रतिनिधि समूह जल्द ही तेहरान की यात्रा करेगा। बुधवार को सुरक्षा कर्मियों की बस पर हुए आतंकी हमले के बाद ईरान और पाकिस्तान के बीच यह पहली उच्च स्तर की आधिकारिक बातचीत है। इस आत्मघाती आतंकी हमले में 27 सैनिकों की मृत्यु हो गयी, जबकि 13 सैनिक बुरी तरह जख्मी है।

पाक का प्रस्ताव

ईरान की मीडिया के मुताबिक विदेश मंत्री ने इस आतंकी हमले की निंदा की और पाकिस्तान सरकार की सहानुभूति दी। उन्होंने दोनों देशों के मध्य सीमा पर ईरानी सैनिकों पर चरमपंथियों द्वारा किये जा रहे आतंकी हमले की जांच में पाकिस्तानी सहयोग प्रस्ताव दिया था। हालाँकि शाह महमूद कुरैशी ने इस बातचीत पर कोई टिपण्णी नहीं की है।

ईरानी विदेश मंत्रालय ने कहा कि “पाक विदेश मंत्री ने दक्षिणी पूर्व ईरान में हुए आतंकी हमले की कड़ी निंदा की और अपनी संवेदना व्यक्त की थी।

ईरान के वरिष्ठ नेता अयातुल्ला अली खमेनेई ने कहा कि “इस अपराध और राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय ख़ुफ़िया व जासूसी विभागों के मध्य कोई ताल्लुक तो जरूर है।” सुरक्षाकर्मियों ने आरोप लगाया कि इस्लामाबाद ने इन आतंकी समूहों पर आँख मूँद रखी है।

सुषमा स्वराज से बातचीत

बुल्गारिया की यात्रा पर गई भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने शनिवार को ईरान में भी कुछ पल रुकी थी। उन्होंने इस दौरान आईआरजीसी की बस पर हुए आतंकी हमले के बाबत चर्चा की। साथ ही पुलवामा आतंकी हमले पर भी बातचीत हुई। इस मुलाकात के बाद ईरानी उप विदेश मंत्री सैयद अब्बास अरगची ने ट्वीट कर कहा कि “भारत और ईरान बीते दिनों में घृणित आतंकी हमलों से गुजरे हैं, जिसमे काफी हताहत हुए हैं। सुषमा स्वराज से हमारी मुलाकात में हमने क्षेत्रीय चरमपंथ को उखाड़ने के बाबत मज़बूत सहयोग पर रज़ामंदी दी है। बस अब बहुत हुआ।”

पाकिस्तान में ईरानी राजदूत मेहदी होनदुस्त ने रावलपिंडी में पाकिस्तानी सैन्य प्रतिनिधि से मुलाकात की थी। वही ईरान में पाकिस्तान के दूतावास ने आतंक पर तेहरान तेहरान के विरोध को स्वीकार किया है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here