Tue. Mar 5th, 2024
    होर्मुज़ जलमार्ग

    ब्रिटेन ने ईरान से सोमवार को कहा कि “अगर वह अँधेरे से बाहर आना चाहता है कि अंतरराष्ट्रीय निर्देशों का पालन करे और ब्रिटेन के जब किये जहाज को रिहा कर दे।” ईरान के कमांडो ने 19 जुलाई को स्टेना इम्पेरो को होर्मुज़ जलमार्ग पर जब्त कर लिया था।

    इससे करीब दो सप्ताह पूर्व ब्रिटेन ने ईरान के तेल टैंकर को जब्त किया था, यह जहाज यूरोपीय प्रतिबंधों का उल्लंघन कर सीरिया को तेल का निर्यात कर  रहा था। ब्रिटेन के विदेश सचिव डोमिनिक राब ने स्काई न्यूज़ से कहा कि “अगर ईरान अँधेरे से बाहर निकलना चाहते हैं और खुद को अंतरराष्ट्रीय समुदाय के जिम्मेदार सदस्य के तौर पर स्वीकार करवाना चाहते हैं तो उन्हें अंतरराष्ट्रीय समुदाय के नियमों पर आधारित सिस्टम का पालन करना होगा।

    उन्होंने कहा कि “आप गैरकानूनी तरीके से विदेशों जहाजों को जब्त नहीं कर सकते हैं।” रक्षा मंत्रालय ने कहा कि “युद्धपोत, एचएमएस डंकन ने खाड़ी में लैंड किया था ताकि जलमार्ग में ब्रितानी जहाज के प्रवेश में मदद कर सके।

    ईरान के गार्ड्स ने सोमवार को एक विडियो फुटेज को साझा किया था जिसमे गार्ड्स स्टेन इम्पेरो की जब्ती के दौरान  ब्रितानी युद्धपोत को आगाह कर रहे हैं।

    ईरान के अंग्रेजी न्यूज़ चैनल प्रेस टीवी ने ब्रितानी युद्द्पोत की विडियो जारी की थी। गार्ड्स ने कहा कि “आप इस मामले में दखलंदाज़ी नहीं कर सकते हैं। ब्रितानी आवाज में जवाब आया कि यह एक ब्रितानी जहाज है। मैं अंतरराष्ट्रीय मान्यता प्राप्त जलमार्ग पर व्यापारिक जहाज के साथ हूँ।”

    इस्लामिक गणराज्य ने खाड़ी से ब्रिटेन के जहाज को प्रतिकार में गिरफ्तार कर लिया था। विदेश सचिव डोमिनिक राब ने इस विचार को ख़ारिज कर दिया था।

    उन्होंने कहा कि “वह ब्रिटेन के जहाज को ईरान के टैंकर के बदले रिहा नहीं कर सकते हैं। यह किसी प्रकार का कोई वस्तु विनिमय नहीं है। यह अंतरराष्ट्रीय कानून के बाबत है और अंतरराष्ट्रीय कानूनी प्रणाली के नियम है और हम यही करने का आग्रह करेंगे।”

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *