शनिवार, मार्च 28, 2020

ईरान से तनाव बढ़ने पर चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने सऊदी अरब से की बातचीत

Must Read

दिल्ली में 68 वर्षीय महिला की कोरोनोवायरस से मृत्यु, भारत में अबतक दूसरी मृत्यु

देश में वैश्विक महामारी से जुड़ी दूसरी मौत में शुक्रवार को दिल्ली में 68 वर्षीय एक महिला की मौत...

‘बागी 3’ बॉक्स ऑफिस कलेक्शन: टाइगर श्रॉफ, श्रद्धा कपूर नें होली पर जमकर की कमाई

टाइगर श्रॉफ की बागी 3 (Baaghi 3) ने अपने शुरुआती सप्ताहांत में बॉक्स ऑफिस पर 53.83 करोड़ रुपये कमाए।...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

ईरान के तनाव में वृद्धि के साथ ही बुधवार को चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिपंग ने सऊदी अरब के बादशाह सलमान से फ़ोन पर बातचीत की थी। रियाद का क्षेत्रीय शत्रु ईरान है और तेहरान ने वैश्विक ताकतों से साथ साल 2015 में हुई परमाणु संधि की कुछ प्रतिबद्धताओं से पीछे हटने का ऐलान किया है।

चीन के ईरान और सऊदी अरब दोनों मुल्कों के साथ काफी नजदीकी कारोबारी और ऊर्जा के सम्बन्ध है, इसलिए चीन एक महीन रेखा के तौर पर खुद को आंकता है। विश्व में चीन का पारम्परिक तौर पर अमेरिका, रूस, फ्रांस और ब्रिटेन के मुकाबले काफी कम बोलबाला था।

चीनी विदेश मंत्री ने शी और सलमान की बातचीत में ईरान का जिक्र नहीं किया था और राष्ट्रपति के बयान में द्विपक्षीय समझौते को मज़बूत करने पर ध्यान केंद्रित था। शी जिनपिंग ने साल 2016 में ही ईरान और सऊदी अरब की यात्रा की थी और इसके बदले बादशाह सलमान ने साल 2017 में चीनी यात्रा की थी।

शी ने सलमान से कहा कि “चीन के सऊदी के साथ सभी रणनीतिक साझेदारियों को मज़बूत करने की योजना बनायीं है, विशेषकर ऊर्जा के सहयोग के क्षेत्र में है।” बयान के मुताबिक, सऊदी अरब ने चीन-अरब सम्बन्धो का प्रचार करने के चीनी सक्रीय प्रयासों की सराहना की है। साथ ही चीन और इस्लामिक मुल्कों के साथ सम्बन्धो के विकास की भी सराहना की है।

बयान के मुताबिक, चीन के मूल हितो और प्रमुख चिंताओं पर सऊदी अरब के उद्देश्य और निष्पक्ष स्वरुप की चीन सराहना करता है। सऊदी अरब के राष्ट्रीय सम्प्रभुता, सुरक्षा और स्थिरता के सऊदी के प्रयासों का चीन समर्थन करता है। साथ ही आर्थिक परिवर्तन और बेहतर विकास हासिल करने का भी चीन समर्थन करता है।

ईरान ने वैश्विक ताकतों के साथ हुई परमाणु संधि से आंशिक रूप से बाहर निकलने का ऐलान किया था। अगर देशों ने अमेरिका के प्रतिबंधों के मुक्ति नहीं दिलाई तो और कार्यवाही का खतरा बरक़रार है। साल 2015 की संधि ईरान,रूस, चीन, ब्रिटेन, फ्रांस, जर्मनी और अमेरिका के बीच हुई थी। इस दौरान ईरान प्रतिबंधों को हटाने के बदले परमाणु कार्यक्रम को सिमित करने के लिए राज़ी हो गया था।

अमेरिका के यूरोपीय सहयोगियों ने डोनाल्ड ट्रम्प के समझौते से नाता खत्म करने के निर्णय का विरोध किया था। बुधवार को चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि “यह संधि पूर्ण रूप से और प्रभावी तौर पर अमल में लायी जानी चाहिए।” चीन ने ईरान के संधि को अमल में लाने की प्रक्रिया को मंज़ूरी दी है और अमेरिका के एकपक्षीय प्रतिबंधों का विरोध किया है।

उन्होंने कहा कि “इस विस्तृत समझौते का संरक्षण और अमल मे लान सभी पक्षों की जिम्मेदारी है। हम सभी पक्षों से संयमता दर्शाने और बातचीत के स्तर को बढ़ाने की मांग करते हैं, साथ ही तनाव को न बढ़ाने का आग्रह करते हैं।”

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

दिल्ली में 68 वर्षीय महिला की कोरोनोवायरस से मृत्यु, भारत में अबतक दूसरी मृत्यु

देश में वैश्विक महामारी से जुड़ी दूसरी मौत में शुक्रवार को दिल्ली में 68 वर्षीय एक महिला की मौत...

एक विलेन 2: दिशा पटानी के बाद, तारा सुतारिया फिल्म से जुड़ी, जॉन अब्राहम और आदित्य रॉय कपूर भी होंगे फिल्म का हिस्सा

यह पहले बताया गया था कि जॉन अब्राहम 2014 की फिल्म, एक विलेन की अगली कड़ी बनाने के लिए बातचीत कर रहे थे। जनवरी...

‘बागी 3’ बॉक्स ऑफिस कलेक्शन: टाइगर श्रॉफ, श्रद्धा कपूर नें होली पर जमकर की कमाई

टाइगर श्रॉफ की बागी 3 (Baaghi 3) ने अपने शुरुआती सप्ताहांत में बॉक्स ऑफिस पर 53.83 करोड़ रुपये कमाए। 2 दिन में 16.03 करोड़...

महाराष्ट्र सरकार को कोई खतरा नहीं – कांग्रेस

एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने बुधवार शाम को अपने सभी विधायकों की बैठक बुलाई है। राकांपा नेताओं ने कहा कि 26 मार्च को होने...

पीएम मोदी, राहुल गांधी ने पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को उनके जन्मदिन पर शुभकामनाएं दीं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को उनके 78 वें जन्मदिन पर शुभकामनाएं दीं। पीएम मोदी ने ट्विटर पर लिखा,...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -