ईएसपीएन इंडिया अवार्ड्स में पीवी सिंधु, नीरज चोपड़ा ने शीर्ष सम्मान जीता

पीवी सिंधु, नीरज चोपड़ा

पीवी सिंधु को लगातार दूसरे वर्ष ईएसपीएन इंडिया अवार्ड्स में स्पोर्ट्सपर्सन ऑफ द ईयर (महिला) से सम्मानित किया गया है। नीरज चोपड़ा, जो 2017 में टारगेट टोक्यो पुरस्कार के साथ विजेता थे, ने 2018 के लिए स्पोर्ट्सपर्सन ऑफ द ईयर (पुरुष) पुरस्कार जीतकर अपनी साख को आगे बढ़ाया।

गोल्ड कोस्ट में राष्ट्रमंडल खेलों में भारत का प्रदर्शन और एशियाई खेल जकार्ता शूटिंग के साथ दो पुरस्कार जीते थे। शूटर सौरव चौधरी और को एमर्जिंग स्पोर्ट्सपर्सन से नवाजा गया है और उनके कोच जसपाल राणा को साल का सबसे सर्वश्रेष्ठ कोच का पुरस्कार से नामित किया है। साइना नेहवाल जिन्होने गोल्ड कोस्ट में स्वर्ण पदक जीता था उन्हें कमबैक अवॉर्ड ऑफ द ईयर से नवाजा गया है।

बॉक्सर अमित पंघाल जिन्होने एशियन गेम्स में ओलंपिक चैंपियन हसनबॉय दुसमटोव को मात दी मैच ऑफ द ईयर दिया से नवाजा है। यही नही भारत की टेबल टेनिस टीम को टीम ऑफ द ईयर के पुरस्कार से नवाजा गया है । टीम ने राष्टमंडल और सिंगापुर चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता था।

क्लब-थ्रो और पैरा-एथलेटिक्स में डिस्कस थ्रो में भाग लेने वाली एकता भान ने पैरा एशियन गेम्स में क्लब गोल्ड के अलावा ट्यूनीशिया में वर्ल्ड ग्रां प्री में अपने दो पदक के लिए डिफिकल्ट-एबल्ड एथलीट ऑफ द ईयर अवार्ड जीता। प्रदीप कुमार और पीके बेनर्जी को लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार दिया गया है, उनके इंडियन फुटबॉल में एक प्लेयर और कोच के योगदान के लिए।

10 पुरस्कारों में से आठ का चयन करने वाली जूरी में भारतीय खेल बिरादरी में कुछ सबसे बड़े नाम शामिल थे: राहुल बोस, अभिनेता और कार्यकर्ता और पूर्व भारतीय रग्बी अंतर्राष्ट्रीय; अभिनव बिंद्रा, एक एकल ओलंपिक स्वर्ण जीतने वाले एकमात्र भारतीय हैं; अश्विनी नचप्पा, लंबी छलांग लगाने वाली और धाविका जो अपनी पीढ़ी के सबसे महत्वपूर्ण ट्रैक और फील्ड सितारों में से थीं; रेंडी सिंह, पूर्व भारतीय फुटबॉल कप्तान और अब एक मान्यता प्राप्त पंडित और टिप्पणीकार; रोहित बृजनाथ, जिन्होंने पिछले तीन दशकों से सभी स्तरों पर भारतीय खेल को कवर किया है; और ईएसपीएन के वरिष्ठ लेखक शारदा उग्रा

रेंडी ने ईएसपीएन को कहा, ” मेरे लिए जो मायने रखते है वह यह है कि जिस खिलाड़ी औऱ टीम ने सबसे ज्यादा मेहनत की है उन्हे अच्छे परिणाम मिलने चाहिए। इसी के चलते, मैंने पीवी सिंधु को स्पोर्ट्सपर्सन ऑफ द ईयर (महिला) से नवाजा है। अगर आप बड़े खिताब जीतते है और कठिन परिश्रम कर रहे है, तो आपको अधिक श्रेय जाता है, इसलिए स्पोर्ट्सपर्सन ऑफ द ईयर (पुरुष) नीरज चोपड़ा और बजरंग पूनिया के बीच में था। मुझे लगा कि सापेक्ष प्रतिस्पर्धा लगभग समान थी लेकिन उनकी उपलब्धि थोड़ी अधिक थी। ”

नीरज, सिंधु, सौरभ और साइना अंतिम वोटिंग टैली में लगभग पक्के विकल्प थे, जबकि जसपाल राणा को भारत के पूर्व टेबल टेनिस कोच मास्सिमो कॉन्स्टेंटिनी के साथ करीबी मुकाबला करना पड़ा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here