Tue. Jun 18th, 2024
    आईएसआईएस

    इस्लामिक संगठन आइएस ने सीरिया सरकार के साथ अदला-बदली के पहले चरण के तहत शनिवार को दो महिलाओं और चार बच्चों को रिहा कर दिया है। इन बच्चों और महिलाओं को जुलाई से आतंकियों ने कब्जे में ले रखा था।

    25 जुलाई को आइएसआइएस आतंकी संगठन ने दक्षिणी प्रांत के स्वेइदा में हमला किया था। इस हमले में आतंकियों ने 30 लोगों को अगवा कर लिया और 216 लोगों को मार दिया। इस्लामिक संगठन के कब्जे में एक महिला की मौत हो गयी जबकि दूसरी को गोली मार दी गयी। अगस्त में 19 वर्षीय लड़के को अवरोध करने पर मार दिया गया था।

    सीरिया में स्थित ब्रिटेन की मानवाधिकार निगरानी समिति ने बताया कि महिलाओं और बच्चों का यह पहला बैच है और आगे और भी बच्चों और महिलाओं को रिहा किया जायेगा। उन्होंने बताया की महिलाओं और बच्चों को छोड़ने के बदले सरकार आतंकियों को विभागों द्वारा पकड़ी गयी आईएस की 60 औरते और 27 मिलियन डॉलर की रकम देगी।

    कार्यकर्ताओं ने रिहा हुई दो महिलाओं और चार बच्चों की तस्वीर खिंची और बताया की सरकार ने इस्लामिक संगठन के लड़ाको की 17 पत्नियों को और 8 बच्चों को रिहा किया है। उन्होंने बताया कि आइएस के कब्जे में 17 महिलाएं कैद है जिन्हें आगामी समय में रिहा कर दिया जायेगा।

    25 जुलाई को आइएस के लड़ाकों ने दक्षिणी प्रांत के स्वेइदा और आसपास के गाँवों में हमला कर दिया था। इस इलाके में अधिकतर अल्पसंख्यक द्रुज़े समुदाय के लोग रहते थे। चरमपंथियों ने यहाँ हमला कर लोगों की हत्या कर दी।

    स्वेइदा के राज्यपाल ने बताया कि सीरिया के सैनिकों की बदौलत चरमपंथियों ने छह बंदियों को रिहा कर दिया है। बचे हुए बंदियों को भी रिहा करवा लिया जायेगा।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *