Tue. Feb 27th, 2024
    इराकी प्रधानमंत्री और ईरानी राष्ट्रपति

    इराक के सैन्य प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल ओथमान अल घनमी ने रविवार को कहा कि “हम किसी तीसरी पार्टी को अपनी सरजमीं का इस्तेमाल ईरान के खिलाफ करने की इजाजत नहीं देंगे। इराक के प्रधानमंत्री आदिल अब्दुल मेहदी के नेतृत्व में एक प्रतिनिधि समूह ईरान की तीन दिवसीय यात्रा पर गए हैं।”

    इराकी पीएम ने की ईरान की यात्रा

    तेहरान टाइम्स के मुताबिक ईरान और इराक कई क्षेत्रों से जुड़े समझौतों पर हस्ताक्षर कर सकते हैं। इसमें मानव तस्करी, आतंक विरोधी अभियान और सीमा पर सुरक्षा मुहैया करने के समझौते शामिल है। हाल ही में ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी इराक की पहली आधिकारिक यात्रा पर गए थे।

    अमेरिका द्वारा समर्थित इराक के साथ ईरान के लम्बे समय से काफी मज़बूत सम्बन्ध है। वांशिगटन द्वारा तेहरान पर प्रतिबन्ध थोपने के बाद इराक असमंजस की स्थिति में था। चीन के बाद ईरान के बाजार पर दुसरे पायदान पर इराक का अधिकार है। तेहरान से इराक खाद्य सामग्री से लेकर मशीनो, बिजली और प्राकृतिक गैस तक खरीदता है।

    हसन रूहानी की इराक की यात्रा

    बीते वर्ष अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने ईरान पर सबसे कठोर प्रतिबन्ध लागू किये थे, जिसने मुल्क की आर्थिक स्थिति को बिगाड़ दिया था। तेहरान के तेल व्यापार में कमी होती जा रही है और उसकी मुद्रा गिरकर अपनी आधी कीमत पर आ गयी है।

    रायटर्स नें राष्ट्रपति रूहानी की ओर से कहा, “दोनों ईरान और इराक देश हमेशा से ही एक दुसरे का समर्थन करते आये हैं। ईरान की जनता और सरकार इस बात को समझती है कि इराक और उसकी सेना हमेशा से आतंकवाद जैसे मुद्दों पर ईरान के साथ खड़ी रही है। दोनों देश व्यापार के मामले में काफी अच्छे साझेदार हैं और अब उनकी कोशिश है कि दोनों देश द्विपक्षीय व्यापार में बढ़-चढ़कर हिस्सा लें और एक-दुसरे को आर्थिक रूप से मजबूत करने में मदद करें।”

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *