दा इंडियन वायर » विदेश » पाकिस्तानी पीएम इमरान खान ने करतारपुर गलियारे के स्थापना दिवस पर नवजोत सिंह सिद्धू को दिया न्योता
विदेश

पाकिस्तानी पीएम इमरान खान ने करतारपुर गलियारे के स्थापना दिवस पर नवजोत सिंह सिद्धू को दिया न्योता

पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू

पाकिस्तान के प्रधानमन्त्री और पूर्व क्रिकेटर इमरान खान ने पंजाब सरकार के मंत्री और पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू को करतारपुर गलियारे के स्थापना दिवस समारोह का आमंत्रण दिया है।

नवजोत सिंह सिद्धू ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि मुझे पाकिस्तान के पीएम इमरान खान और भारत में स्थित पाकिस्तानी दूतावास ने इस समारोह का निमंत्रण भेजा है। उन्होंने कहा कि मैं उनके संपर्क में हूं और वे मेरे निर्णय का इंतजार कर रहे हैं।

नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि पाकिस्तान के समारोह में शरीक होने के लिए उन्हें मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और भारत सरकार की अनुमति लेनी होगी। पाकिस्तान में इस गलियारे की नींव को 28 नवम्बर को रखी गयी थी, जबकि 26 नवम्बर को भारत में राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद और अमरिंदर सिंह इस समारोह का आयोजन करेंगे।

हाल ही में पाकिस्तान और भारत ने अपने इलाके में करतारपुर गलियारे के निर्माण के लिए रजामंदी दे दी थी। ताकि सिख श्रद्धालु  पाकिस्तान में स्थित करतारपुर साहिब गुरुद्वारे के दर्शन आसानी से कर सके। यह गुरुद्वारा पाकिस्तान में स्थित रावि नदी के किनारे जो पंजाब के गुरुदासपुर जिले से 4 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

हाल ही पाकिस्तान के इमरान खान के प्रधानमंत्री पद के शपथ ग्रहण समारोह में शरीक होने पर भी नवजोत सिंह सिद्धू की काफी आलोचना की गयी थी क्योंकि इस समारोह के दौरान उन्होंने पाकिस्तान के सेना अध्यक्ष जावेद कमर बाजवा को गले लगाया था।

मंत्री सिद्धू ने अपना बचाव करते हुए कहा था कि जब सेना अध्यक्ष ने उन्हें करतारपुर बॉर्डर खोलने की सूचना दी तो वह भावुक हो गये थे। उन्होंने कहा कि वह पाकिस्तान शांति दूत के तौर पर गए थे और सेनाध्यक्ष को गले मिलाना एक भावनात्मक जवाब था।

हाल ही में नवजोत सिंह सिद्धू ने बयान दिया था की पंजाबी नागरिकों का दक्षिण भारत के लोगों से अधिक पाकिस्तानी पंजाब के लोगों से अधिक जुड़ाव से महसूस होता है। मंत्री के बयान पर सियासी दलों ने उन्हें आदो हाथों लेकर, देशद्रोह का तमगा दिया था।

About the author

कविता

कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!