दा इंडियन वायर » टैकनोलजी » इनपुट डिवाइस क्या हैं? परिभाषा, उदाहरण
टैकनोलजी

इनपुट डिवाइस क्या हैं? परिभाषा, उदाहरण

इनपुट उपकरण input devices in hindi

इनपुट उपकरण क्या हैं? (what are input devices in hindi)

इनपुट उपकरण वे उपकरण होते हैं, जिनका इस्तेमाल कर हम कंप्यूटर के भीतर कोई कमांड यानी निर्देश भेजते हैं।

उदाहरण के तौर पर, स्क्रीन पर कुछ भी दिखाने के लिए हमें पहले उसे कीबोर्ड पर लिखना पड़ता है।

कम्प्युटर में कई प्रकार के इनपुट उपकरण होते हैं वह कुछ इस प्रकार है:

इनपुट उपकरण के उदाहरण (list of input devices in hindi)

1. कीबोर्ड (keyboard in hindi)

यह बहुत आम और बहुत लोकप्रिय इनपुट उपकरण है जो की कम्प्युटर में डाटा को रखने के काम में आता है।

कीबोर्ड का आकार पुरानी जमाने में जो टाइप रायटर आता था बिलकुल उसका जैसा ही है। पर इसमे कुछ अतरिक्त बटन होते हैं जो की अलग अलग तरह के काम में इस्तेमाल होते हैं।

कीबोर्ड भी दो तरह के होते है एक 84 बटन वाला होता है और एक 101/102 बटन वाला होता है। पर आज के जमाने में नई तकनीकी वाले कीबोर्ड 104 से 108 बटन में भी आने लगे हैं।

इस तरह के बटन कीबोर्ड में होते हैं –

  • टाइपिंग बटन (typing button)– इसमे A से लेकर Z तक के बटन होते हैं और डिजिट वाले बटन 0 से 9 तक होते हैं। इसमे भी बिलकुल टाइप रायटर के जैसे ही आकार होता है।
  • नुमेरिक कीपेड़ (numeric keypad)– यह नुमेरिक डाटा को डालने में काम आता है। इसमे 17 बटन होते हैं जो की कैल्कुलेटर आदि की तरह ही होते हैं।
  • फंकशन बटन (function button)– 12 तरह की फंकशन बटन कीबोर्ड में होते हैं जो की एक ही पंक्ति में कीबोर्ड में होते हैं। जिसमे की 4 दिशा निर्देश वाले बटन होते हैं। कंट्रोल बटन में होम, एंड, इन्सर्ट, डिलीट, पेज अप, पेज डाउन, कंट्रोल, अलटरनेट, इस्केप आदि भी होते हैं।
  • स्पेशल पर्पस बटन (special purpose button)– इसमे कुछ स्पेशल बटन भी होते हैं जैसे की एंटर, शिफ्ट, कैप्स लोक, नम लोक, स्पेस बार, टैब और प्रिंट स्क्रीन।

2. माऊस (mouse in hindi)

यह बहुत ही लोकप्रिय दिशा निर्देश देने वाला उपकरण है। इसे हम कर्सर कंट्रोल डिवाइस भी बोलते हैं। इसमे नीचे की तरफ एक गोलाकार बॉल होती है जो इसके चलने मे सहायक होती है।

यह सीपीयू को सिग्नल देने में काम आता है क्योंकि यह कर्सर की मदद से स्क्रीन पर चीजों को दर्शाता है। सामान्य तौर पर इसमे दो बटन होते हैं एक बायीं ओर एवं एक दायीं ओर। यह केवल स्क्रीन पर कर्सर चलाने में काम आता है हम इससे टाइप नहीं कर सकते।

इसके फायदे यह हैं की:

  • यह आसानी से उपयोग किया जा सकता है।
  • यह ज्यादा महंगा नहीं होता।
  • इसका कर्सर कीबोर्ड की निर्देश वाले बटन से तेज़ चलता है।

3. जॉयस्टिक (joystick in hindi)

यह भी एक तरह का उपकरण है जो की स्क्रीन पर कर्सर को चलाने में काम आता है। इसमे एक स्टिक होती है जिसमे एक गोलाकार बॉल लगी हुई होती है नीचे और ऊपर दोनों तरफ। नीचे की बॉल सॉकेट में ही घूमती रहती है।

यह एक तरह से माऊस की तरह ही होती है। इसका इस्तेमाल हम CAD डिज़ाइन बनाने में भी करते हैं। जॉयस्टिक सारे के सारे चारों दिशाओं में घूम सकती है। हम इसका इस्तेमाल ज़्यादातर विडियो गेम खेलने में करते है।

4. लाइट पेन (light pen in hindi)

यह पेन की तरह ही होता है जो की संकेत देने में काम आता है। यह मॉनिटर पर चित्र या फिर कुछ लिखने के काम में आता है। इस छोटी सी ट्यूब में फोटो सेल और ऑप्टिकल सिस्टम होता है।

जब भी इस पेन को मॉनिटर की स्क्रीन पर चलाया जाता है और इस पेन के बटन को दबाया जाता है तो यह एक सिग्नल सीपीयू को भेजता है जिससे की यह स्क्रीन पर जो भी हमने लिखा या बनाया है उसे दिखा सके।

5. ट्रेक बाल (track ball in hindi)

यह बॉल ज़्यादातर नोटबूक या फिर लैपटाप में माऊस की जगह इस्तेमाल होती है। यह बॉल थोड़ी सी धँसी हुई होती है और उँगलियों की मदद से हम इसको चला सकते हैं।

इस पूरे उपकरण को हम घूमा नहीं सकते केवल बॉल को ही घुमाया जा सकता है। इसमे जो बॉल होती है वह काफी आकारो में आती है जैसे की बटन और वर्ग।

6. स्कैनर (scanner in hindi)

यह एक तरह से फोटो कॉपी मशीन की तरह काम करता है। यह जब काम में आती है जब कोई जानकारी पन्नों पर होती है और उसको हमे कम्प्युटर के अंदर रखना होता है तो उसके लिए हम इसका इस्तेमाल करते हैं।

यह सोर्स से इमेज को लेता है उसके बाद उसको डिजिटल रूप में रखता है। इस तरह की इमेज को हम प्रिंट से पहले एडिट भी कर सकते हैं ।

7. डीजीटाइज़र (digitizer in hindi)

यह एक इनपुट उपकरण है जो की अनैलॉग सिग्नल को डिजिटल में बदलने का काम करता है। डीजीटाइज़र एक सिग्नल को टीवी और कैमरा की मदद से कम्प्युटर में रखता है।

यह किसी भी तरह की इमेज को कम्प्युटर के द्वारा दिखाने के काम में आता है।

8. माइक्रोफोन (microphone in hindi)

यह साउंड के लिए इस्तेमाल होता है। यह हमे जब कोई भी आवाज़ को रेकॉर्ड करना होता है तब हम इसका इस्तेमाल करते हैं।

जैसे कोई गाना गाने के इच्छुक है तो उसके लिए भी इसका इस्तेमाल किया जाता है।

9. चुम्बकीय इंक कार्ड (magnetic ink card in hindi)

यह ज़्यादातर बैंक मे इस्तेमाल होता है क्योंकि वहाँ ज्यादा मात्रा में चेक की जरूरत होती है। बैंक का जो कोड़ होता है और चेक का जो नंबर होता है उसको छापने के लिए एक विशेष इंक का इस्तेमाल किया जाता है वह इसी मशीन से छापा जाता है।

इसका सबसे बड़ा फायदा यह है की यह काफी तेज़ है और इसमे गलती की संभावना भी काफी कम है।

10. ऑप्टिकल कैरक्टर रीडर (optical character reader in hindi)

यह छपे हुए लेख को पढ़ने के काम में आता है। यह उस लेख को स्कैन कर लेता है और डिजिटल डाटा की तरह कम्प्युटर में रख लेता है।

11. बार कोड़ रीडर (bar code reader in hindi)

इस तरह के रीडर बार कोड़ को पढ़ने के काम में आते है। यह ज़्यादातर किताबों, उपकरणो आदि के डब्बों पर पाये जाते हैं।

मॉल, दुकानों पर हम जब समान खरीदने जाते हैं तब हमें बिल देने के लिए दुकानदार इसको स्कैन करके ही बिल देता है।

12. ऑप्टिकल मार्क रीडर (optical mark reader in hindi)

यह किसी भी तरह के मार्क जो की पेंसिल या पेन से किया हुआ है उसको पढ़ने के काम में आती है।

इसी की मदद से कॉम्पटिशन के पेपर जाँचे जाते हैं। यह उनही शीट में काम आती हैं जिनमे ओएमआर छपी हुई होती है।

इनपुट उपकरण से सम्बंधित यदि आपका कोई सवाल या सुझाव है, तो आप उसे नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

About the author

अभिषेक विजय

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!

Want to work with us? Looking to share some feedback or suggestion? Have a business opportunity to discuss?

You can reach out to us at [email protected]