Mon. Sep 26th, 2022

    इज़राइल संसद के विदेश मामलों और रक्षा समिति के प्रमुख ने गुरुवार को कहा कि इज़राइल ने एनएसओ समूह के विवादास्पद पेगासस फोन निगरानी सॉफ्टवेयर के दुरुपयोग के आरोपों की समीक्षा करने के लिए एक आयोग का गठन किया है। कानून विशेषज्ञ राम बेन बराक ने कहा कि, “इज़राइल के रक्षा प्रतिष्ठान ने कई समूहों को जोड़ कर एक समीक्षा आयोग नियुक्त किया है।”

    इज़राइल की मोसाद जासूसी एजेंसी के पूर्व उप प्रमुख और ने कहा कि, “जब समिति अपनी समीक्षा समाप्त कर लेगी, तब हम परिणाम देखने और आकलन करने की मांग करेंगे और जांचेंगे कि हमें सुधार करने की आवश्यकता है या नहीं।”

    मीडिया रिपोर्टों के अनुसार पेगासस सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल पत्रकारों, मानवाधिकार के लिए काम करने वाले कार्यकर्ताओं और 14 राष्ट्राध्यक्षों की संभावित सामूहिक निगरानी में किया गया है। मानवाधिकारों के लिए काम करने वाले समूह एमनेस्टी इंटरनेशनल और पेरिस स्थित फॉरबिडन स्टोरीज को लीक की गई सूची में लगभग 50,000 संभावित निगरानी लक्ष्यों के नाम मिले थे जिसमें उनके फोन नंबर भी शामिल थे।

    एनएसओ ने कहा है कि लीक हुई सूची “पेगासस के लक्ष्यों या संभावित लक्ष्यों की सूची नहीं है।” एनएसओ के मुख्य कार्यकारी अधिकारी शालेव हुलियो ने गुरुवार को आर्मी रेडियो से कहा कि अगर कोई जांच होती है तो उन्हें बहुत खुशी होगी, ताकि हम अपना नाम साफ कर सकें। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि “सभी इज़राइली साइबर उद्योग को धब्बा लगाने” का प्रयास किया जा रहा है।

    एनएसओ ने कहा है कि वह इजरायल सरकार की मंजूरी के साथ 45 देशों को अपनी सुविधाएं निर्यात करता है।हुलियो ने कहा कि कंपनी “गोपनीयता के मुद्दों” के कारण अपने अनुबंधों के विवरण का खुलासा नहीं कर सकती है, लेकिन उन्होंने कहा कि वह अधिक जानकारी मांगने वाली किसी भी सरकार को पूर्ण पारदर्शिता प्रदान करेंगे।

    उन्होंने कहा, “किसी भी राज्य इकाई को या किसी भी राज्य के किसी भी अधिकारी को आने दें। हम उन्हें सभी सारी जानकारी प्रदान करने के लिए तैयार रहेंगे।

    सरकार द्वारा संचालित रक्षा निर्यात नियंत्रण एजेंसी का उल्लेख करते हुए, बेन बराक ने कहा कि इज़राइल की प्राथमिकता “लाइसेंस देने के इस पूरे मामले की समीक्षा करना” है। उन्होंने कहा, पेगासस ने “कई आतंकी कोशिशों का पर्दाफाश किया था”, लेकिन “अगर इसका दुरुपयोग किया गया या गैर-जिम्मेदार निकायों को बेचा गया, तो यह ऐसी चीज है जिसकी हमें जांच करने की आवश्यकता है।”

    रिपोर्टर्स विदाउट बॉर्डर्स ने बुधवार को साइबर सर्विलांस सॉफ्टवेयर पर रोक लगाने का आह्वान किया। पेगासस उपयोगकर्ता को जाने बिना मोबाइल फोन को हैक कर सकता है, जिससे ग्राहक के संदेश पढ़ सकते हैं, स्थान ट्रैक कर सकते हैं और फोन के कैमरे और माइक्रोफ़ोन में टैप कर सकते हैं।

    By आदित्य सिंह

    दिल्ली विश्वविद्यालय से इतिहास का छात्र। खासतौर पर इतिहास, साहित्य और राजनीति में रुचि।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.