Sun. Jun 23rd, 2024
    इजराइल का स्पेसक्राफ्ट

    इजराइली स्पेसक्राफ्ट ने अपने पहले अभियान से चन्द्रमा से पृथ्वी के साथ अपनी सेल्फी भेजी है। यह तस्वीर बरशीट स्पेसक्राफ्ट के बैकग्राउंड में पृथ्वी नज़र आ रही है। यह स्पेसक्राफ्ट इजराइल के येदुह में मिशन के नियंत्रण कक्ष से 37600 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

    एनजीओ स्पेसेल और सरकारी स्वामित्व वाली इजराइल ऐयरोस्पेस इंडस्ट्रीज के साथ मिलकर मानव राहत अंतरिक्ष यान का निर्माण किया है। जिसे फ्लोरिडा से 22 फरवरी को लांच किया गया था। 585 किलोग्राम क्राफ्ट, फाल्कन 9 राकेट को लेकर गए हैं जो अमेरिका में स्थित स्पेस एक्स प्राइवेट कंपनी ने बने है जिसके उद्यमी एलन मस्क है।

    रूस, अमेरिका और चीन ने ही बस अभी तक 384000 किलोमीटर का सफर तय किया है और चन्द्रमा पर लैंड हुए हैं।अमेरिका द्वारा चन्द्रमा पर पहला कदम रखने के 50 साल पूरे होने के बाद इजराइल का यह कार्य सामने आया है। चीन के चेंज 4 ने चन्द्रमा पर 3 जनवरी को सफलतापूर्वक लैंड किया था।

    इस स्पेसक्राफ्ट में टाइम कैप्सूल, जिसमे बाइबिल की डिजिटल फाइल्स है, बच्चों की ड्राइंग, इजराइली गीत, प्रलय के दौरान जीवित लोगों की यादे और नीले और सफ़ेद रंग में इजराइल का ध्वज भी है।

    चीन द्वारा इस वर्ष की शुरुआत में इसको पूरा किया और अब इजराइल ने किया है। भारत अब चंद्रयान 2 का अभियान सफल कर पांचवा लूनर राष्ट्र बनने की उम्मीद रखता है। जापान भी स्माल लूनर लैंडर को भेजने की योजना बना रहा है। साल 2026 तक अमेरिका चांद के ऑरबिट पर छोटे स्पेस स्टेशन और डब्बड गेटवे के निर्माण की योजना बना रहा है।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *