Mon. Apr 22nd, 2024
    बेंजामिन नेतन्याहू

    इजराइल की राजनीति पर प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू का लम्बा प्रभाव रहा है और इसलिए उन्हें एक निकनाम ‘किंग बीबी’ भी दिया गया है। इजराइल में 9 अप्रैल को चुनाव होने हैं और बेंजामिन नेतन्याहू पर भ्रष्टाचार का कलंक लगा है। क्या नेतन्याहू को पांची दफा सत्ता पर काबिज होना चाहिए।

    इजराइल के संस्थापक डेविड बेन गुरियन का कार्यकाल 13 वर्ष का था जिस रिकॉर्ड को तोड़ने के लिए नेतन्याहू राह पर चल रहे हैं। ओपिनियन पोल्स के मुताबिक नेतन्याहू की राइट विंग लिकुड लॉक्ड को सेंट्रिस्ट गठबंधन पूर्व सेनाध्यक्ष बैनी गांट्ज़ से कड़ी चुनौती मिल रही है।

    अटॉर्नी जनरल ने ऐलान किया कि “उनका मकसद नेतन्याहू के धोखादड़ी, रिश्वतखोरी और भरोसे को तोड़ने के लंबित मामलों की सुनवाई को शुरू कर अभियोग लगाना है, जो चुनावों के बाद संभव होगा।”

    बेंजामिन नेतन्याहू लोकलुभावन वादों के साथ चुनावी प्रचार कर रहे हैं और विदेश के नेताओं के साथ अपने संबंधों का खुलासा कर खुद की छवि को वैश्विक नेता के तौर पर उभारने की कोशिश कर रहे हैं। बेंजामिन नेतन्याहू ने भी डोनाल्ड ट्रम्प की तरह युक्तियाँ अपनायी है मसलन, फर्जी ख़बरों की आलोचना और खुद के खिलाफ जारी भ्रष्टाचार की जांच को ‘डायन का शिकर’ करार दिया है।

    सोमवार को बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा कि “देश के हालात बेहद उम्दा है, हमेशा से अधिक बेहतर हैं। हमारे विपक्षियों के समक्ष हमारी उपलब्धियों को मानने के आलावा कोई विकल्प नहीं है। कोई मार्ग नहीं है, मैं क्या कह सकता हूँ।”

    69 वर्षीय नेतन्याहू को एक अन्य मशहूर निकनेम “श्रीमान सिक्योरिटी” से भी जानते हैं, क्योंकि इजराइल में सुरक्षा हमेशा मतदाताओं के दिमाग में होती है। इजराइल के विपक्षी नेता बेंजामिन नेतन्याहू की साख को सावधानीपूर्वक ख़ाक कर आगे बढ़ने की चुनौती दे रहे हैं। इसमें सिर्फ पूर्व सेनाध्यक्ष गेट्ज़ ही नहीं बल्कि दो अन्य महत्वपूर्ण सदस्य है।

    अलबत्ता, नेतन्याहू ने विपक्षी धड़ो को खुद के समक्ष कमजोर उम्मीदवार कहकर सम्बोधित किया हैं। बेंजामिन नेतन्याहू सीरिया में अपने दुश्मन ईरान के खिलाफ और लेबनान में हिज़बुल्लाह के खिलाफ इजराइल के हवाई हमले का खुले तौर पर जिक्र करते हैं। हालाँकि वह फिलिस्तान के मुद्दे पर बोलने से बचते हैं।

    नेतन्याहू का जन्म इजराइल के निर्माण के 18 माह बाद साल 1949 में तेल अवीव में हुआ था। उनके और उनकी पत्नी सारा के दो बेटे हैं और पिछली शादी से उन्हें एक बेटी हैं। उनका एक बेटा इतिहास का प्रोफेसर है और राइट विंग पॉलिटिक्स में सक्रीय है। हालाँकि नेतन्याहू की परवरिश अमेरिका में हुई हैं।

    उन्होंने अमेरिका के प्रतिष्ठित संस्थान मेसाचुसेट्स इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी में दाखिला लिया था और अपनी अमेरिकी अंग्रेजी की बदौलत टीवी पर इजराइल के बचाव में बोलते दिखे हैं। साल 1976 में उनके भाई योनाटान की इजराइल की कमांडो में बंधकों को बचाने में युगांडा के एयरपोर्ट पर मौत हो गयी थी।

    इजराइल की राजनीति के शुरूआती दौर में लेबर पार्टी का प्रभुत्व था। साल 1977 में लिकुड को पहलीबार जीत नसीब हुई थी और उसने नेतन्याहू के राजनीतिक भविष्य की नींव रख दी थी। साल 1996 में वह 46 वर्ष की आयु में इजराइल के सबसे युवा प्रधानमंत्री बने थे, लेकिन तीन साल तक ही यह सिलसिला चला था। साल 2009 में उन्होंने सत्ता में वापसी की और अभी तक पद पर कायम है।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *