Sun. Oct 2nd, 2022
    आशुतोष गोवारिकर ने की 'पानीपत' के विवादों में घिरने और भंसाली से तुलने होने पर बात

    फिल्म निर्माता आशुतोष गोवारिकर को अपने आगामी पीरियड ड्रामा “पानीपत” में इतिहास के संभावित गलत चित्रण को लेकर कुछ समूहों से खतरों का सामना करना पड़ा है। निर्देशक को लगता है कि सवाल उठाना केवल स्वाभाविक है, और कहते हैं कि उनके पास उठाए गए सभी सवालों के लिए स्पष्टीकरण है।

    उनके मुताबिक, “जब भी हम इतिहास पर कोई फिल्म बनाते हैं, तो यह स्वाभाविक है कि कहानी के किस हिस्से को शामिल किया गया है और स्क्रिप्ट से बाहर क्या किया गया है, इस पर सवाल उठेगा। एक इतिहास की किताब में जानकारी के इतने पृष्ठ होते हैं, लेकिन कोई भी एक फिल्म में सब कुछ फिट नहीं कर सकता है। यह एक समय सीमा के भीतर होना है। इसलिए लोगों को संदेह था कि क्या उनके परिवार के योगदान को फिल्म में दिखाया गया है।”

    लगान निर्देशक ने आगे कहा-“मल्लार राव होल्कर, जानकोजी शिंदे, महाराज जी शिंदे, बलवंत राव महेंद्र्रे अलकाजी मनकेश्वर, पुरंदरे जैसे कई अन्य लोगों के योगदान फिल्म का हिस्सा हैं। इसलिए हमने संदेह को दूर कर दिया है और अब सब ठीक है।” फिल्म निर्माता को धमकियों का सामना करना पड़ा और, सुरक्षा कारणों से लगभग 200 पुलिसकर्मियों को तैनात करना पड़ा।

    यह पूछे जाने पर कि क्या ऐसे समूह जो ऐतिहासिक फिल्म से पहले विरोध करते हैं, वे तुरंत प्रसिद्धि के लिए टीवी चैनलों और अन्य मीडिया प्लेटफार्मों पर दिखाई देते हैं, फिल्म निर्माता ने कहा-“मुझे ऐसा नहीं लगता है। हम एक डिजिटल युग में रह रहे हैं, जहां सोशल मीडिया के माध्यम से, हम किसी भी चीज पर तुरंत टिप्पणी कर सकते हैं। इसलिए, जो प्रतिक्रियाएं आ रही हैं, वे महत्वपूर्ण हैं और यदि कोई गलत धारणा है, तो स्पष्ट करना भी महत्वपूर्ण है।”

    https://www.instagram.com/p/B5HhRAaABfS/?utm_source=ig_web_copy_link

    जब फिल्म का ट्रेलर रिलीज़ हुआ था तब उसकी तुलना संजय लीला भंसाली की फिल्मो से हुई, खासकर ‘बाजीराव मस्तानी’ से। इस पर आशुतोष ने कहा-“तुलना स्वाभाविक है क्योंकि जब मैंने ‘जोधा अकबर’ बनाई थी, तो इसकी तुलना ‘मुग़ल-ए-आज़म’ से की गई थी, हालाँकि दोनों फिल्मो में कोई संबंध नहीं था, इसके अलावा कि यह मुग़ल काल में आधारित थी। जब ‘पानीपत’ की बात आती है, तो फिल्म पेशवा बाजीराव की अगली पीढ़ी सदाशिव राव भाऊ की बात करती है। सदाशिव राव भाऊ बाजीराव के भाई चिमाजी अप्पा के पुत्र थे। तो, यह केवल सामान्य है कि उनके कपड़े, उपस्थिति, मकान समान प्रतीत होंगे।”

    इस दौरान, फिल्म में अर्जुन कपूर, संजय दत्त और कृति सेनन अहम किरदार निभा रहे हैं। फिल्म 6 दिसम्बर को रिलीज़ होगी।

    By साक्षी बंसल

    पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.