मंगलवार, अक्टूबर 15, 2019

आम्रपाली ग्रुप के खिलाफ महेंद्र सिंह धोनी ने सुप्रीम कोर्ट में दी दस्तक, बताया 40 करोड़ रुपये बकाया

Must Read

उप्र उपचुनाव में बसपा ने सर्वाधिक पूंजीपतियों, अपराधियों को दिए टिकट : एडीआर

लखनऊ, 15 अक्टूबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश में 11 सीटों पर हो रहे उपचुनाव में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने...

उप्र : बांदा जिले में ट्रक से कुचल कर देवर-भाभी की मौत, 1 घायल

बांदा, 15 अक्टूबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश में बांदा जिले के तिंदवारी कस्बे में सोमवार रात एक ट्रक से कुचल...

भारतीय तेल कारोबारियों ने रोकी मलेशिया से पाम ऑयल की खरीद (लीड-1)

नई दिल्ली, 15 अक्टूबर (आईएएनएस)। कश्मीर मसले को लेकर मलेशिया के प्रधानमंत्री महाथिर मोहम्मद द्वारा भारत की आलोचना से...
अंकुर पटवाल
अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

एएनआई की एक रिपोर्ट के अनुसार पता लगा है कि भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने आम्रपाली समूह के खिलाफ अदालत का दरवाजा खटखटाया है। ब्रैंडिंग और मार्किंटिंग के एवज में आम्रपाली समूह को धोनी के 40 करोड़ रुपये देने है। धोनी आम्रपाली के ब्रांड एंबेसडर थे। इसलिए धोनी ने अब कोर्ट में दस्तक दी है।

धोनी ने 2009 से रियल एस्टेट कंपनी का समर्थन किया है और ब्रांड का प्रचार करने वाले कई विज्ञापनों में दिखाई दिए हैं। हालांकि, अमरपाली समूह वित्तीय कठिनाइयों में चला गया है और सर्वोच्च न्यायालय 46,000 से अधिक होमबॉयर्स द्वारा दायर याचिकाओं पर सुनवाई कर रहा है, जिन्होंने उन संपत्तियों के लिए भुगतान किया है जो वितरित नहीं किए गए हैं।

अपने हालिया आदेश में, शीर्ष अदालत ने अचल संपत्ति समूह को अपनी सभी संपत्तियों को इसके सहयोगी कंपनियों और उनके निदेशकों के अलावा संलग्न करने के लिए कहा।

धोनी आम्रपाली समूह के साथ कई समझौतो में शामिल थे, जिसमें उन्होनें उनकीकई योजनाओं को प्रमोट किया है और उनके साथ 2016 तक बने रहे। उनकी पत्नी साक्षी धोनी भी इस समूह के चैरेटी कार्यक्रम में शामिल हुआ करती थी।

धोनी ने अदालत को बताया कि कंपनी ने उनकी सेवाओं के लिए भुगतान जारी नहीं किया और दावा किया की कंपनी को उनकी 38.95 करोड़ रुपेय की राशि देनी है। चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान ने कहा, ” बिल्डर, आम्रपाली समूह पर 38.95 करोड़ रुपये से अधिक की राशि बकाया है, जिसमें 22.53 करोड़ रुपये मूल राशि की ओर और 16.42 करोड़ रुपये प्रति वर्ष 18% साधारण ब्याज पर दिए जाने है।”

अपनी याचिका के साथ, धोनी ने बिल्डर के साथ अपने समझौतों की प्रतियां संलग्न कीं। उन्होंने कहा, “यह सहमति हुई कि फर्म आम्रपाली समूह को विज्ञापन, विपणन और पीआर गतिविधियों के संबंध में अपने (धोनी के) समर्थन का विशेष अधिकार प्रदान करेगी। इसके अलावा यह स्पष्ट रूप से सहमत था कि समझौते के तहत सभी भुगतान केवल आवेदक (धोनी) को भुगतान किए जाने थे।”

28 फरवरी को सुप्रीम कोर्ट ने आम्रपाली ग्रुप के दो प्रबंध संचालक शिव प्रिया और अजय कुमार को पुलिस हिरास्त के लिए भिजा था। जहां उनसे पूछताछ की गई थी।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

उप्र उपचुनाव में बसपा ने सर्वाधिक पूंजीपतियों, अपराधियों को दिए टिकट : एडीआर

लखनऊ, 15 अक्टूबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश में 11 सीटों पर हो रहे उपचुनाव में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने...

उप्र : बांदा जिले में ट्रक से कुचल कर देवर-भाभी की मौत, 1 घायल

बांदा, 15 अक्टूबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश में बांदा जिले के तिंदवारी कस्बे में सोमवार रात एक ट्रक से कुचल कर मोटरसाइकिल सवार एक महिला...

भारतीय तेल कारोबारियों ने रोकी मलेशिया से पाम ऑयल की खरीद (लीड-1)

नई दिल्ली, 15 अक्टूबर (आईएएनएस)। कश्मीर मसले को लेकर मलेशिया के प्रधानमंत्री महाथिर मोहम्मद द्वारा भारत की आलोचना से नाराज भारतीय कारोबारियों ने मलेशिया...

जूनियर हॉकी : जोहोर कप में जापान से 3-4 से हारा भारत

जोहोर बाहरू (मलेशिया), 15 अक्टूबर (आईएएनएस)। भारतीय जूनियर पुरुष हॉकी टीम को यहां जारी नौवें सुल्तान जोहोर कप के अपने तीसरे मुकाबले में मंगलवार...

बैडमिंटन : सिंधु और प्रणीत जीते, सौरभ तथा कश्यप डेनमार्क ओपन से बाहर (लीड-1)

ओडिंसे, 15 अक्टूबर (आईएएनएस)। विश्व चैम्पियनशिप में स्वर्ण जीतने वाली पी. वी. सिंधु और कांस्य पदक विजेता बी. साई. प्रणीत ने मंगलवार को डेनमार्क...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -