Thu. Feb 22nd, 2024
    जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे

    जापान के प्रधानमंत्री 26 अप्रैल को व्हाइट हाउस में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से मुलाकात करेंगे। इस दौरान दोनों नेताओं के बीच अहम मुद्दा व्यपार और उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम को रोकने के प्रयास होगा। वैश्विक मंच पर अमेरिकी राष्ट्रपति के सबसे नजदीकी जापानी पीएम आबे को माना जाता है और अमेरिकी राष्ट्रपति मई के अंत में जापान की यात्रा कर सकते हैं।

    आबे की अमेरिकी यात्रा

    टोक्यों में ट्रम्प क्राउन प्रिंस नारूहितो को शुभकामनाएं देंगे जो 1 मई को जापान के सम्राट बनेगे। मौजूदा सम्राट अकिहितो एक दिन पूर्व ही अपना त्यागपत्र देंगे। अमेरिकी राज्य विभाग ने बताया कि “जापान के विदेश और रक्षा मंत्री शुक्रवार को वांशिगटन में अपने समकक्षीयों से मुलाकात करेंगे।

    डोनाल्ड ट्रम्प के मुताबिक उनकी शिंजो आबे के साथ काफी अच्छे सम्बन्ध है। दोनों मुल्को के बीच समान चिंता चीन के बढ़ते प्रभुत्व के कारण करीबी सुरक्षा सम्बन्ध है। लेकिन ट्रम्प ने स्पष्ट किया है कि वह अमेरिका के साथ जापान के ट्रेड सरप्लस से संतुष्ट नहीं है। अमेरिकी आंकड़ों के मुताबिक, यह साल 2018 में 67.6 अरब डॉलर था।

    रक्षा और व्यापार होंगे अहम मुद्दे

    इस हफ्ते अमेरिकी और जापानी अधिकारी नए व्यापार समझौते के बाबत पहले स्तर की बातचीत करेंगे। अमेरिकी पक्ष और डोनाल्ड ट्रम्प टोक्यों के साथ विशाल व्यापार घाटे की चिंता को जाहिर करेगा। बीते सितम्बर में दोनों देशो के नेता व्यापार वार्ता की शुरुआत के लिए मान गए थे ताकि जापानी ऑटोमकेर्स को अत्यधिक शुल्क से बचाया जा सके।

    राज्य विभाग के मुताबिक शुक्रवार को सुरक्षा वार्ता में उत्तर कोरिया और जापान में अमेरिकी सेना के साथ सहयोग जारी रखने के बाबत बातचीत की जाएगी। इस बातचीत में अमेरिका द्वारा डिज़ाइन और जापान द्वारा तैयार किये गए एफ 35 लड़ाकू एयरक्राफ्ट का जापान के नजदीक पैसिफिक में क्रैश होने की जांच भी शामिल होगी।

    9 अप्रैल को जापान के मिसवा एयर बेस से पूर्व में 135 किलोमीटर दूरी पर लड़ाकू विमान क्रैश हो गया था। जिसकेपायलट की अभी तालाश जारी है। जापान के पड़ोसी मुल्क चीन और रूस अपनी सैन्य क्षमता में बढ़ावा कर रहे हैं इसलिए जापान भी वायु सेना को ताकतवर बनाने 87 नए लड़ाकू विमान खरीदने की योजना बना रहा है।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *