Wed. Oct 5th, 2022
    आबकारी नीति मामले में सीबीआई ने दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के आवास पर छापेमारी की

    सीबीआई ने शुक्रवार को दिल्ली आबकारी नीति मामले में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के आवास सहित दिल्ली-एनसीआर में विभिन्न स्थानों पर तलाशी ली।

    सीबीआई ने मामले के संबंध में प्राथमिकी दर्ज की है। दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने नियमों के कथित उल्लंघन और नीति में प्रक्रियागत खामियों को लेकर सीबीआई जांच की सिफारिश की थी।

    डिप्टी सीएम ने कहा उनके अगर सीबीआई आई है। वह सीबीआई का स्वागत करते है।  उन्होंने आगे कहा, “हम कट्टर ईमानदार हैं . लाखों बच्चों का भविष्य बना रहे हैं.  बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है कि हमारे देश में जो अच्छा काम करता है उसे इसी तरह परेशान किया जाता है. इसीलिए हमारा देश अभी तक नम्बर-1 नहीं बन पाया।”

    सिसोदिया ने कहा, वह जांच में पूरा सहयोग देंगे ताकि जल्द ही सच्चाई सामने आ सके. उन्होंने कहा, “हम सीबीआई का स्वागत करते हैं. जाँच में पूरा सहयोग देंगे ताकि सच जल्द सामने आ सके. अभी तक मुझ पर कई केस किए लेकिन कुछ नहीं निकला. इसमें भी कुछ नहीं निकलेगा. देश में अच्छी शिक्षा के लिए मेरा काम रोका नहीं जा सकता।”

    दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने सिसोदिया पर आरोप लगते हुए कहा, दिल्ली के अंदर शराब माफिया को संरक्षण देने वाले मनीष सिसोदिया व अरविन्द केजरीवाल सरकार अपनी ईमानदारी की बात कर रही है।

    “जिस शराब नीति के लिए DyCM अपने वक्तव्य में कहा करते थे की इससे revenue में हजारों करोड़ का फायदा होगा CBI की जांच के आदेश के बाद उसमे हजारों करोड़ का घाटा कहने लगे” भाजपा अध्यक्ष ने कहा।

    गुप्ता ने आरोप लगाया कि मनीष सिसोदिया ईमानदारी की दुहाई दे रहे हैं। उन्होंने बिंदुवार तौर पर अपने बातों को रखते हुए डिप्टी सीएम पर निशाना साधा। उन्होंने आरोप लागया कि दिल्ली सरकार ने 144 करोड़ रुपये शराब माफियाओं के माफ किया है।

    दिल्ली भाजपा अध्यक्ष ने शराब बोतलों की मूल्य दरें कम करना, शराब माफियाओं के साथ मिली भगत कर करोड़ों रुपये का घोटाला, ब्लैक लिस्टेड कंपनियों को ठेका देने को दिल्ली के राजस्व में आई कमी नतीजा बताया है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.